ब्राजील: छापे में सांसद के अंडरवियर से 3 लाख 88 हजार रुपये बरामद

रियो डी जेनेरियो। ब्राजील में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच भ्रष्टाचार के मामले ने भी तूल पकड़ लिया है। इस बीच भ्रष्टाचार निरोधक इकाई के एक छापे में राष्ट्रपति जेयर बोलसनारो की पार्टी के एक सांसद अपने अंडरवियर में रुपये छिपाए पकड़े गए। केंद्रीय अधिकारियों ने बताया कि जांच के दौरान सांसद चिको रोड्रिग्स के अंडरवियर से 3 लाख 88 हजार रुपये बरामद किए गए हैं।
कोरोना फंड में गड़बड़ी का आरोप
एजेंसी ने कहा कि उसे सत्ताधारी पार्टी के सीनेटर के भ्रष्टाचार से जुड़े होने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद उत्तरी ब्राजील में स्थित रोरिमा राज्य में चिको रोड्रिग्स के घर पर बुधवार को छापा मारा गया। उन पर आरोप था कि वे रोरिमा राज्य में कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने के लिए दिए गए फंड में हेराफेरी कर रहे थे।
सीनेटर ने बयान जारी कर दी सफाई
इस बीच सीनेटर चिको रोड्रिग्स ने भी बयान जारी कर इस छापेमारी की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने एक मामले के सिलसिले में उनके घर की जांच की है। हालांकि, उन्होंने बरामद की गई नकदी का कोई उल्लेख नहीं किया। ना ही उन्होंने इसके बारे में बताया जहां यह कथित रूप से पाया गया था।
सीनेटर बोले, बदनाम करने का षडयंत्र
उन्होंने शिकायत की है कि एक विधायिका के रूप में काम करने को लेकर उनके घर की तलाशी ली गई है। रोड्रिग्स ने जोर देकर कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। सीनेटर ने आरोप लगाया कि यह सब उन्हें बदनाम करने के लिए किया गया है।
मीडिया पर भड़के राष्ट्रपति बोलसनारो
वहीं, राष्ट्रपति जेयर बोलसनारो ने पूरी घटना का ठीकरा मीडिया के सिर पर फोड़ा है। उन्होंने मीडिया पर अपनी सरकार को भ्रष्ट बताने के लिए फर्जी कहानी का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यह ऑपरेशन एक उदाहरण है कि मेरी सरकार में कोई भ्रष्टाचार नहीं है। हम भ्रष्टाचार से कड़ाई से निपट रहे हैं चाहे वह कोई भी हो।
बोलसनारो के बेटे पर भी आरोप
साल 2018 में बोलसनारो को सत्ता भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बुलंद करने को लेकर ही मिली थी लेकिन जब से वे ब्राजील की कमान संभाल रहे हैं, तबसे उनकी सरकार पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लग चुके हैं। उनके बेटे फ्लेवियो पर भी ऐसे ही आरोप लगे हैं। बोलसोनारो के बेटे के ऊपर रियो डी जनेरियो के विधायक के रूप में अपने समय के दौरान सार्वजनिक धन के गबन का आरोप लगा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *