KD हॉस्पिटल में Brain surgery कर बालों का ट्यूमर निकाला

मथुरा। KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के विशेषज्ञ न्यूरो सर्जन डाॅ. मिलेश नागर और उनकी टीम ने लगभग साढ़े चार घण्टे के प्रयासों के बाद लम्बे समय से बुखार, सिरदर्द तथा उल्टियां होने से परेशान गांव झण्डीपुर, राया मथुरा निवासी भाव्या (03) पुत्री हरीश कुमार के माइक्रोस्कोपिक Brain surgery कर बालों का बड़ा ट्यूमर निकालने में सफलता हासिल की। सर्जरी के बाद भाव्या को न केवल नई जिन्दगी मिली बल्कि अब वह पूरी तरह से स्वस्थ है।

ज्ञातव्य है कि गांव झण्डीपुर, राया मथुरा निवासी भाव्या पुत्री हरीश कुमार काफी समय से बुखार और सिरदर्द से परेशान थी। उसे उल्टी होने की भी परेशानी थी। भाव्या की इस परेशानी से उसके माता-पिता काफी चिन्तित थे। आखिरकार वह बच्ची को लेकर KD मेडिकल काॅलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के विशेषज्ञ न्यूरो सर्जन डाॅ. मिलेश नागर से मिले। डाॅ. नागर ने भाव्या की एमआरआई और कुछ जांचें कराईं जिनसे पता चला कि उसके ब्रेन में बड़ा ट्यूमर है। उन्होंने हरीश कुमार को भाव्या के आपरेशन की सलाह दी। परिजनों की सहमति के बाद नौ मार्च को डाॅ. नागर ने डाॅ. संदीप चौहान न्यूरो सर्जन, डा. विदुषी और निश्चेतना विशेषज्ञ डाॅ. स्वाति वर्मा के सहयोग से लगभग साढ़े चार घण्टे के प्रयासों के बाद भाव्या के ब्रेन की सर्जरी कर बालों का एक बड़ा ट्यूमर निकालने में सफलता हासिल की। इस ट्यूमर में न केवल काफी मात्रा में बाल थे बल्कि मवाद से भी भरा था।

डाॅ. मिलेश नागर की जहां तक बात है वह न्यूरो एण्डोस्कोपी (दूरबीन द्वारा दिमाग एवं रीढ़ की सर्जरी) में फेलोशिप एवं ट्रेनिंग के उपरांत जापान के विख्यात सेण्टर फुजीता हेल्थ यूनिवर्सिटी में वैस्कूलर तथा एण्डोवैस्कुलर न्यूरोसर्जरी में एडवांस्ड ट्रेनिंग और फेलोशिप प्राप्त करने के बाद KD हाॅस्पिटल में नवीनतम पद्धति से आपरेशन कर रहे हैं। डाॅ. नागर का कहना है कि भाव्या के सिर में ट्यूमर था, जिसकी सर्जरी काफी जटिल थी। यदि समय से बच्ची की सर्जरी नहीं होती तो उसे हाथ-पैरों में तकलीफ के साथ वह चेहरे से लकवाग्रस्त भी हो सकती थी। डाॅ. नागर का कहना है कि ऐसी सर्जरी में प्रायः मरीज मेनिंजायटिस का शिकार हो जाता है लेकिन भाव्या के साथ ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि KD हाॅस्पिटल में माइक्रोस्कोप, क्यूसा, न्यूरो एण्डो स्कोप आदि आधुनिकतम मशीनें उपलब्ध होने से यहां हर तरह का विश्वसनीय इलाज तथा सर्जरी सम्भव है। उन्होंने बताया कि KD हॉस्पिटल में आधुनिक मशीनों के होने के चलते यहां हर तरह की सर्जरी अधिक सुविधाजनक तरीके से हो पाती है तथा इसमें खतरा भी काफी कम रहता है।

आर. के. एजुकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल, चेयरमैन मनोज अग्रवाल, कालेज के प्राचार्य डाॅ. रामकुमार अशोका, मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डाॅ. राजेन्द्र कुमार ने भाव्या की सफल सर्जरी के लिए डाक्टरों की टीम को बधाई दी। डाॅ. अग्रवाल का कहना है कि KD मेडिकल काॅलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में आधुनिकतम चिकित्सा सुविधाएं तथा विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम होने से यहां हर तरह के मरीज का इलाज सम्भव हो पाता है।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *