Boris Johnson का आदेश गैरकानूनी, सुप्रीम कोर्ट ने बहाल की संसद

नई द‍िल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा Boris Johnson का आदेश गैरकानूनी करार देते हुए ब्रिटेन की संसद को आज बुधवार को फ‍िर बहाल कर द‍िया गया । शीर्ष न्यायालय ने अपने फैसले में कहा था कि प्रधानमंत्री Boris Johnson का संसद को निलंबित रखने का आदेश गैरकानूनी और अमान्य था ।
अदालत के फैसले ने जॉनसन के अधिकार क्षेत्र पर पर भी सवाल उठाया है। इससे उनके इस्तीफे की मांग बढ़ गई है और 31 अक्टूबर को यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के बाहर होने के उनके वादों पर भी संशय गहरा गया है।

पांच सप्ताह तक संसद को निलंबित करने के प्रधानमंत्री के फैसले को अमान्य करार दिए जाने के न्यायालय के मंगलवार के फैसले के बाद राजनीतिक गतिरोध गहरा गया है। कंजरवेटिव पार्टी के नेता जॉनसन न्यूयार्क के दौरे के बाद सुबह साढ़े 10 बजे लंदन पहुंचे।

प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, फैसले को लेकर जॉनसन बुधवार को सांसदों को संबोधित करने वाले हैं। हालांकि, उन्होंने जोर दिया है कि वह ब्रेक्जिट की समय सीमा 31 अक्टूबर को बढ़ाने के लिए सांसदों की मांग को नहीं स्वीकार करेंगे। इससे सांसदों के साथ उनका एक और टकराव हो सकता है।

हाउस ऑफ कॉमन्स के स्पीकर जॉन बरकोउ ने बुधवार को साढ़े ग्यारह बजे संसद की बैठक बुलाई है। ऊपरी सदन की बैठक भी होने वाली है। लेबर पार्टी के विपक्षी नेता जेरेमी कोरबिन ने जॉनसन के इस्तीफे की मांग की है, लेकिन कहा है कि वह बिना शर्त ब्रेक्जिट समझौते की संभावना खत्म होने तक संसद में अविश्वास मत का आह्वान नहीं करेंगे ।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *