बॉम्बे हाईकोर्ट का पुणे पुलिस को आदेश: 100 से भी अधिक पुरुषों पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की को ढूंढो

Bombay High Court order to Pune police: Find the girl who accused Rape of more than 100 men
बॉम्बे हाईकोर्ट का पुणे पुलिस को आदेश

मुंबई। बॉम्बे हाईकोर्ट ने पुणे पुलिस को कथित तौर पर रेप का शिकार और जबर्दस्ती प्रॉस्टिट्यूशन में धकेल दी गई दिल्ली की 24 वर्षीय मॉडल और 16 साल की नेपाली लड़की को ढूंढने का आदेश दिया। नेपाली लड़की ने 100 से भी अधिक पुरुषों पर रेप करने का आरोप लगाया था।
जस्टिस रणजीत मोरे और रेवती देरे की बेंच ने कहा, ‘यह आरोप बेहद गंभीर प्रकृति के हैं और हम पीड़ित को लेकर चिंतित हैं। उन्हें खोजने के गंभीर प्रयास किए जाने चाहिए।’ कोर्ट, दिल्ली की वकील अनुजा कपूर की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जो कि केस को सीबीआई को सौंपे जाने की मांग कर रही थीं। दोनों लड़कियों का पिछले 6 महीनों से पता नहीं चल सका है। आरोपियों में पुलिसकर्मियों सहित प्रभावशाली लोगों के शामिल होने की वजह से वकीलों ने पीड़िताओं की जान को खतरा होने की आशंका जताई है।
हाईकोर्ट ने दो आरोपी पुलिसकर्मियों के कोर्ट में मौजूद रहने को लेकर राज्य को फटकार लगाई। कोर्ट ने पुणे के पुलिस आयुक्त को 31 मार्च को होने वाली अगली सुनवाई के दौरान डीसीपी रैंक से उपर के अधिकारी को नियुक्त करने का निर्देश दिया।
दिल्ली की मॉडल के साथ पुणे में रेप का मामला मार्च 2016 में सामने आया था जब पीड़िता जली हुई अवस्था में अस्पताल में भर्ती हुई थी। उसने रोहित भंडारी नामक शख्स पर ऐक्टिंग ऑफर के नाम पर प्रॉस्टिट्यूशन में जबरन धकेलने का आरोप लगाया। वहीं पर उसकी मुलाकात नेपाली लड़की से हुई जो ब्यूटी पार्लर में काम दिलाने के नाम पर दो साल से शोषण का शिकार हो रही थी।
दोनों किसी तरह पुणे से भागकर दिल्ली पहुंची और वहां शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद रोहित समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पीड़ित की मदद करने वाले वकील कपूर ने बताया कि पिछले 6 महीनों से उनका पीड़ितों से संपर्क नहीं हो सका है।
बॉम्बे हाईकोर्ट ने राज्य की तरफ से महाधिवक्ता रोहित देव तथा कोर्ट की तरफ से सीनियर वकील मिहिर देसाई को नियुक्त किया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *