शरीर भी देता है Cholesterol लेवल बढ़ने के संकेत

ब्लड टेस्ट के अलावा आपका शरीर भी आपको Cholesterol बढ़ने के ऐसे संकेत देने लगता है जिसके जरिए आप इस बात का अंदाजा खुद ही लगा सकते हैं कि कहीं आपके शरीर में Cholesterol का लेवल बढ़ तो नहीं रहा है। आखिर कौन से हैं वे संकेत जानें…
Cholesterol वसा की तरह का पदार्थ है जो शरीर की सभी कोशिकाओं में पाया जाता है। तकनीकी तौर पर यह एक लिपिड है जो कि खून में circulates के रूप में जाना जाता है। हमारे शरीर में खाद्य पदार्थों को पचाने में मदद करने और अन्य कार्यों के लिए कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है। शरीर की हर कोशिका के जीवन के लिए कोलेस्ट्रॉल का होना आवश्यक है। चूँकि यह वसा/ चर्बी युक्त होता है इसलिए यह रक्त में नहीं मिलता है और छोटे छोटे कणों जिसे लाइपो प्रोटीन कहते हैं के रूप में संचरित होता है। यह लाइपो प्रोटीन दो तरह के होते हैं-
Low-density lipoprotein (LDL): इसे बैड कोलेस्ट्रॉल कहते हैं जो धमनियों में ब्लॉकेज और हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार होता है।
High-density lipoprotein (HDL): इसे गुड कोलेस्ट्रॉल कहते हैं जो कि शरीर को हृदय की बीमारियों से दूर रखता है।
कोलेस्ट्रॉल का सामान्य स्तर
Total blood cholesterol 200 एमजी/डीएल से कम
LDL 130 एमजी/डीएल से कम, असामान्य
Total level 240 एमजी/डीएल से ज्यादा
LDL 160 एमजी/डीएल से ज्यादा
हाथ-पैर में सिहरन महसूस होना
जब खून में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बहुत अधिक बढ़ जाता है तो शरीर में मौजूद रक्त वाहिकाओं में अवरोध उत्पन्न होने लगता है और वे बंद होने लगती हैं। ऐसे लोगों को अक्सर हाथ और पैर में सिहरन महसूस होती है या फिर बिना किसी वजह के हाथ-पैर में दर्द रहता है। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि आपके शरीर की पेरिफेरल नसों में पर्याप्त ऑक्सिजन और पोषक तत्वों से भरपूर खून नहीं पहुंच पाता।
गर्दन और सिर के पीछे वाले हिस्से में दर्द
अगर खून में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बहुत अधिक बढ़ जाए तो शरीर की कुछ रक्त वाहिकाएं ब्लॉक्ड होने लगती हैं जिससे सिर में रक्त का संचार प्रभावित होता है। इससे सिर के सर्क्युलेशन पर भी असर पड़ता है और सिर के पिछले हिस्से में दर्द महसूस होने लगता है। इसके अलावा गर्दन और कंधे में भी समय-समय पर सूजन और दर्द महसूस हो सकता है।
असामान्य हृदय गति
कई बार एक्सर्साइज करने के बाद या तेजी से दौड़ लगाने या सीढ़ियां चढ़ने के बाद या फिर कोई भारी फिजिकल ऐक्टिविटी करने के बाद आपके दिल की धड़कन तेज हो जाती है। इसमें कोई नुकसान की बात नहीं है। कई बार स्ट्रेस, ऐंग्जाइटी या किसी दवा की वजह से भी ऐसा हो सकता है लेकिन अगर थोड़ा सा चलने पर ही आपकी सांस फूलने लगे, थकान महसूस हो और दिल की धड़कन बहुत तेज हो जाए यह शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल का संकेत होता है।
लगातार वजन बढ़ना
अगर आपका शरीर हमेशा से ही सामान्य वजन वाला रहा है लेकिन अब अचानक बिना किसी कारण के आपके शरीर का वजन लगातार बढ़ रहा हो और आपको हर वक्त भारी-भारी सा महसूस हो तो यह हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने का संकेत हो सकता है। इस लक्षण को नजरअंदाज न करें और डॉक्टर से संपर्क कर अपना चेकअप करवाएं।
पलकों पर पीले रंग का ग्रोथ
क्या आपने भी अपनी आंखों की ऊपर वाली या फिर नीचे वाली पलकों पर पीले रंग की ग्रोथ देखी है जिसमें किसी तरह का दर्द नहीं होता? घबराइए नहीं इससे आपकी आंखों की रोशनी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा लेकिन यह ग्रोथ इस बात का साफ संकेत है कि आपके खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत अधिक बढ़ गई है। वैसे तो ऐसिड या लेजर का इस्तेमाल कर इन्हें हटाया जा सकता है लेकिन अगर आप चाहते हैं कि ये येलो-कलर्ड ग्रोथ पूरी तरह से खत्म हो जाए तो आपको अपने कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करना होगा।
कॉर्निया में ग्रे कलर का रिंग
आइने के बेहद नजदीक खड़े होकर अपनी आंखों को ध्यान से देखें। क्या आपको अपनी आंखों के सफेद भाग जिसे कॉर्निया कहते हैं के ईर्द-गिर्द ग्रे कलर का रिंग या आर्क जैसा कुछ दिखता है? वैसे तो यह स्थिति बुजुर्गों में आम बात है लेकिन 45 साल या कम उम्र के लोगों की आंखों में अगर यह दिखे तो समझ जाएं कि आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »