दिल्ली पुलिस को हाई कोर्ट से झटका, वकीलों ने खिलाफ एक्‍शन की याचिका खारिज

नई दिल्‍ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने वकीलों के खिलाफ कार्यवाही पर अपने रुख को न बदलते हुए बुधवार को दिल्ली पुलिस को झटका दिया है। कोर्ट ने साफ कहा है कि वकीलों ने खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही नहीं की जाएगी। इसके अलावा दिल्ली पुलिस की दूसरी अर्जी भी खारिज कर दी गई है। इसमें साकेत कोर्ट वाली घटना पर एफआईआर दर्ज करने की मंजूरी मांगी थी।
बता दें कि वकीलों और पुलिस के बीच टकराव के चलते केंद्र सरकार ने दिल्ली हाई कोर्ट का रुख किया था। इसमें गृह मंत्रालय ने कोर्ट से 3 नवंबर को जारी किए गए उसके आदेश पर सफाई मांगी थी। मंत्रालय ने कोर्ट से अनुरोध किया था कि वकीलों के खिलाफ कार्यवाही नहीं करने से जुड़े संबंधित आदेश उसके बाद की घटनाओं पर लागू नहीं होना चाहिए। लेकिन कोर्ट ने ऐसा आदेश नहीं दिया।
सुनवाई में वकीलों की तरफ से दिल्ली पुलिस पर नए आरोप लगाए गए हैं। कहा गया है कि सीनियर पुलिसवालों ने वकीलों के लिए गलत भाषा का इस्तेमाल किया था, जिस पर एक्शन हो। वकील पक्ष ने उस वकील को पहचानने से भी इंकार किया जिसका वीडियो वायरल हुआ था। वीडियो में एक शख्स पुलिसवाले को पीट रहा था। उसे वकील बताया जा रहा था।
वकील पक्ष ने कोर्ट में आरोप लगाया कि पुलिस अपने अधिकारों का गलत इस्तेमाल कर रही है। मांग की गई कि वकीलों के खिलाफ गलत भाषा का इस्तेमाल करने वाले पुलिसवालों के खिलाफ पुलिस को ही तुरंत एक्शन लेना चाहिए।
‘हमला करने वाला वकील है या नहीं..पता नहीं’
कोर्ट में साकेत कोर्ट के वीडियो का मामला भी उठा। वीडियो में एक शख्स पुलिसवाले को पीट रहा था। उस शख्स को वकील बताया गया था। कोर्ट में वकील पक्ष ने कहा कि हम हमला करने वाले वकील को नहीं जानते। वह वकील है या नहीं पता नहीं।
बता दें कि इससे पहले आज वकीलों ने दिल्ली के जिला कोर्टों में प्रदर्शन किया था। आज दिल्ली की पांच जिला अदालतों में वकीलों ने कामकाज ठप कर दिया है। गेट बंद हैं, ऐसे में आम लोगों को काफी परेशानी हो रही है। खबर है कि वकील किसी को भी कोर्ट परिसर में जाने नहीं दे रहे हैं। रोहिणी कोर्ट में एक वकील ने बिल्डिंग की छत पर चढ़कर खुदकुशी करने की भी कोशिश की है। सुनवाई से पहले तक पटियाला हाउस कोर्ट, साकेत कोर्ट, रोहिणी कोर्ट, कड़कड़डूमा कोर्ट और तीस हजारी कोर्ट में वकील प्रदर्शन कर रहे थे।
इससे पहले मंगलवार को दिल्ली पुलिस के जवानों ने स्ट्राइक की थी। पुलिसवाले करीब 10 घंटे तक दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया था। पुलिसवालों ने विभिन्न मांगें की थीं, जिन पर आश्वासन देकर उनको वहां से हटाया जा सका था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »