आपके बैंक खातों को उड़ाने आया BlackRock malware

नई द‍िल्ली। ड‍िज‍िटल इंड‍िया अभ‍ियान के तहत आजकल सभी के फोन उनके बैंक एकाउंट से जुड़े हुए हैं , ऐसे में फोन में ही बैंक अकाउंट का पासवर्ड, एटीएम पिन या फिर इंटरनेट बैंकिंग की जानकारी सेव करके रखते हैं परंतु अब एंड्रॉयड फोन पर नये वायरस BlackRock malware आया है जो बैंक से संबंधित जानकारियों को ही चुरा रहा है।

BlackRock एंड्रॉयड मैलवेयर को लेकर भारत सरकार की साइबर एजेंसी ने भी लोगों को आगाह किया है। यह मैलवेयर करीब 337 एंड्रॉयड एप्स से जानकारी चुराने में सक्षम है। जिन एप्स से यह डाटा चोरी कर सकता है उनमें जीमेल, अमेजन, नेटफ्लिक्स और उबर जैसे एप्स के नाम शामिल हैं।

BlackRock मैलवेयर के बारे में सबसे पहले मोबाइल सिक्योरिटी फर्म ThreatFabric ने जानकारी दी थी। BlackRock मैलवेयर भी किसी आम मैलवेयर की तरह ही डाटा चोरी करता था। यह मैलवेयर strain Xerxes के सोर्स कोड पर आधारित है।

यह मैलवेयर किसी एप में लॉगिन के दौरान ही यूजर्स का डाटा चोरी करता था। उदाहरण के तौर पर यदि आप अपने फोन में किसी बैंकिंग एप में पासवर्ड और यूजर आईडी डालकर लॉगिन कर रहे हैं तो यह मैलवेयर उसे रिकॉर्ड करता था। मैलवेयर जिस टेक्निक से डाटा चोरी करता था उसे overlays कहा जाता है।

इस टेक्निक के तहत मैलवेयर वाले एप्स एक फर्जी वेब पेज पर यूजर्स से लॉगिन करवते हैं, जबकि यूजर उसे असली पेज समझता है। यह मैलवेयर यूजर से मैसेजिंग, कैमरा, गैलेरी आदि का एक्सेस लेता था। यह मैलवेयर यूजर को फर्जी गूगल अपडेट का नोटिफिकेशन भी देता था।

ब्लैक रॉक से कैसे बचें
यह एप आमतौर पर एंटीवायरस एप को चकमा दे देता है। ऐसे में आपके लिए अच्छा होगा कि आप किसी थर्ड पार्टी स्टोर या सोर्स से अपने फोन में कोई एप डाउनलोड ना करें। साथ ही थर्ड पार्टी ब्राउजर एप के इस्तेमाल से भी बचें और किसी बैंक के एप को फोन में इंस्टॉल करने से पहले उसकी जांच कर लें।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *