Mughalsarai जंक्शन के नए नामकरण पर प्रदेश की राजनीति को साधने जुटेंगे बीजेपी के दिग्‍गज

लखनऊ। भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में Mughalsarai जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन किया जाएगा।

मिशन 2019 की तैयारियों में जुटे बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एक बार फिर यूपी के दौरे पर आ रहे हैं। 5 अगस्त को मुगलसराय जंक्शन के बदले नाम के लोकार्पण के बहाने वे पूर्वांचल के सियासी समीकरण को साधने की कोशिश भी करेंगे। इससे पहले अमित शाह आगरा, मिर्जापुर और इलाहाबाद का दौरा कर चुके हैं।

दरअसल 5 अगस्त को मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन किया जाना है। इस मौके पर अमित शाह भी पहुंच रहे हैं। अमित शाह स्टेशन के नए नाम के लोकार्पण के साथ ही एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। अमित शाह के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, रेल मंत्री पीयूष गोयल, रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय भी मौजूद रहेंगे।

क्‍यों है Mughalsarai स्‍टेशन बीजेपी के लिए महत्‍वपूर्ण

बीजेपी के आदर्श रहे पंडित दीन दयाल उपाध्याय 1968 में मुगलसराय जंक्शन पर ही संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाए गए थे। तभी से बीजेपी और आरएसएस मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन किए जाने की मांग कर रहे थे लेकिन केंद्र और राज्य में अलग-अलग दलों की सरकार होने की वजह से यह मांग पूरी नहीं हो पा रही थी। 2014 में केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद एक बार फिर कोशिश तेज हुई थी।

सूबे में अखिलेश सरकार होने की वजह से बात नहीं बन पाई। 2017 में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद नाम बदलने की कवायद फिर तेज हुई और आखिर में बीजेपी और संघ की दशकों पुरानी मांग पर मुहर लग गई। 5 अगस्त को मुगलसराय जंक्शन पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन हो जाएगा। अमित शाह इस मौके पर विपक्ष को घेरने की कोशिश के साथ ही बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश भी कर सकते हैं।

मुगलसराय जंक्शन पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र से सटा हुआ है लेकिन यह चंदौली जिले में आता है। यह जिला धान की खेती के लिए जाना जाता है इसलिए अमित शाह धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने के फैसले की बात उठाकर किसानों को साधने की कोशिश भी करेंगे। साथ ही पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के शिलान्यास का मुद्दा भी वे उठा सकते हैं।

नाम के साथ रंग भी बदल रहा है

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद भगवा रंग लगातार चर्चा में है। राजनीतिक और सामाजिक कार्यक्रमों के बाद सरकारी दफ्तरों और अब स्टेशनों पर भी भगवा रंग चढ़ने लगा है। ताजा मामला मुगलसराय जंक्शन का है। स्टेशन के रंग-रोगन के नाम पर भगवा रंग चढ़ाया जा रहा है हालांकि अधिकारी इसे भगवा रंग से न जोड़ने की बात कह रहे हैं।

दरअसल 5 अगस्त को मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन किये जाने की औपचारिक घोषणा की जाएगी। इसके मद्देनजर एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

Mughalsarai कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, रेलमंत्री पीयूष गोयल, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ समेत बीजेपी के तमाम बड़े नेता और मंत्री उपस्थित रहेंगे। -एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »