बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने किया आगरा में road show

आगरा। भारतीय जनता पार्टी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय आज ताजनगरी आगरा में road show कर अपनी ताकत दिखाई. पीएम मोदी और अमित शाह के करीबी माने जाने वाले यूपी के अध्यक्ष बनने के बाद पहले बार आगमन पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनके भव्य स्वागत की तैयारी की थी. रोड शो के लिए कार्यकर्ता दो दिन से तैयारियों में जुटे हुए हैं. road show में प्रदेश अध्यक्ष फतेहाबाद और एमजी रोड से होकर गुजरे.

ये रहेगा प्रोग्राम,मथुरा के रास्ते दिल्ली निकल जाएंगे

सरकार से संगठन में आए महेंद्र नाथ पांडेय आज road show में दोपहर एक बजे आगरा के फतेहाबाद रोड स्थित रमाडा होटल गए. यहां महानगर अध्यक्ष विजय शिवहरे के नेतृत्व में उनका स्वागत किया गया. शहर में 21 स्थानों पर उनका स्वागत किया गया. रोड शो के दौरान कलाल खेरिया, जेपी प्लेस होटल, ताज विलास होटल, जीएमबी स्वीट्स, अमर होटल, फूल सैयद चौराहा, तार घर मैदान, चौराहा अवन्ति बाई, चौराहा साईं की तकिया, धौलपुर हाउस, कलक्ट्रेट, धाकरढ़ चौराहा, वाल्मीकि वटिका, नालबंद, राजामंडी बाजार, सेंट जोन्स कॉलेज, हरीपर्वत चौराहा, सूरसदन चौराहा, भगवान टॉकीज, सिकंदरा पहुंचेंगे, इसके बाद वह मथुरा के रास्ते दिल्ली निकल गए. रोड शो के देखते हुए पूरे शहर में पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किये गए , जगह जगह पर पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई .

प्रदेश अध्यक्ष का रोड शो दोपहर एक से दो बजे के बीच था. इसी बीच स्कूलों की छुट्टी का समय होता है. ऐसे में बच्चों के साथ-साथ तमाम लोग जाम लगा रहा. प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत में भाजपा कार्यकर्ताओं की भीड़ तो रहेगी ही, उनके पीछे नेताओं की कारों का लंबा काफिला था।

सूबे के सवर्ण मतदातओं को साधने की कोशिश

महेन्द्र नाथ पांडेय को बीजेपी अध्यक्ष बना कर पार्टी ने सूबे के सवर्ण मतदातओं को साधने की कोशिश की है. प्रदेश में करीब 22 फीसदी सवर्ण वोटर हैं. इनमें करीब 12 फीसदी ब्राह्मण मतदाता है, जो बीजेपी का कोर वोट माना जाता है. इन्ही कोर वोटर के मद्देनजर महेंद्र नाथ पांडेय को पार्टी की कमान सौंपी गई है. इतना ही नहीं मोदी मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाले कलराज मिश्र जो यूपी के मजबूत ब्राह्मण चेहरा माने जाते थे, उनकी जगह भरने के मद्देनजर भी इसे देखा जा रहा है.

महेंद्र नाथ पांडेय के सामने कई चुनौतियां
राजनीति के नए केंद्र बिंदु पूर्वांचल में भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय के सामने कई चुनौतियां हैं. निकाय चुनाव इसमें सबसे अहम हैं. इस चुनाव के नतीजे आने वाले लोकसभा चुनाव की नींव रखेंगे. 2012 में प्रदेश के 13 नगर निगमों में से 12 पर निकाय चुनाव हुआ था. इनमें से 11 स्थानों पर भाजपा ने जीत हासिल की थी. परिसीमन नहीं होने के कारण सहारनपुर में चुनाव नहीं हो सका था.

आरएसएस से जुड़ें हैं महेंद्र नाथ पांडेय
पूर्वांचल की नब्ज समझने वाले डॉ. पांडेय छात्र जीवन से ही आरएसएस से जुड़े रहे हैं. संगठन ने जो भी जिम्मेदारी दी, उसे निभाया. काशी क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष के रूप में 15 जिलों के 75 विधानसभाओं के बारे में भी वह बखूबी जानते हैं. पूर्वांचल के 23 लोकसभा और 126 विधानसभा सीटों के बारे में भी उनके अनुभव हैं.

पीएम मोदी और अमित शाह के करीबी माने जाने वाले यूपी के अध्यक्ष बनने के बाद पहले बार आगमन पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनके भव्य स्वागत की तैयारी की थी. रोड शो के लिए कार्यकर्ता दो दिन से तैयारियों में जुटे हुए हैं.

road show में प्रदेश अध्यक्ष फतेहाबाद और एमजी रोड से होकर गुजरे.

-एजेंसी