बीजेपी का आरोप: बिजली देने में भेदभाव किया है सपा सरकार ने

BJP: SP government is differentiated into electricity
बीजेपी का आरोप: बिजली देने में भेदभाव किया है सपा सरकार ने

नई दिल्‍ली। यूपी चुनावों के बीच बीजेपी ने एक नया मोर्चा खोलते हुए सपा पर बिजली देने में भेदभाव बरतने का आरोप लगाया है. बीजेपी का कहना है कि बिजली देने में विभिन्‍न समुदायों के बीच भेदभाव किया गया है.
केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा,”यह कोई खोखली बात नहीं है बल्कि यह तथ्‍यों पर आधारित बात है. मुरादाबाद के लोकसभा सदस्‍य कुंवर सर्वेश कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ एक मीटिंग में यह मुद्दा उठाया और तथ्‍यों के आधार पर ये आरोप सही साबित होते हैं.”
पीयूष गोयल का यह बयान पीएम नरेंद्र मोदी की हालिया फतेहपुर रैली की पृष्‍ठभूमि में आया है जिसमें पीएम ने कहा था,”रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी सबको बिजली मिलनी चाहिए. होली पर बिजली मिलती है तो ईद पर भी बिजली मिलनी चाहिए. जाति धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं होना चाहिए. ऊंच नीच नहीं होना चाहिए.”
पीयूष गोयल ने कहा कि कुंवर सर्वेश कुमार ने सबसे पहले अपनी शिकायत ऊर्जा मंत्रालय को दर्ज कराई. उसके बाद ”इसे राज्‍य सरकार के पास भेजा गया लेकिन कुछ नहीं हुआ. उसके बाद सांसद ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की. एक केंद्रीय टीम भेजी गई और संघीय कानूनों के मुताबिक राज्‍य बिजली विभाग के अधिकारियों को भी उसमें शामिल पाया गया.”
मंत्री ने दावा करते हुए कहा कि जांच टीम ने पाया कि खास जाति और समुदाय बाहुल्‍य इलाके में बिजली का आवंटन किया गया और दूसरे समुदाय को इससे वंचित रखा गया.
गोयल ने कहा, ”केंद्र ने इस तरह का भेदभाव बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही के लिए एफआईआर दर्ज करने की बात कही लेकिन राज्‍य सरकार ने अभी तक उसका कोई जवाब नहीं दिया.”
हालांकि राज्‍य की सत्‍ताधारी समाजवादी पार्टी ने पीयूष गोयल के आरोपों को खारिज कर दिया. सपा नेता राजेंद्र चौधरी ने कहा, ”इस आरोप में कोई दम नहीं है. विशेष समुदाय के आधार पर वोटों के ध्रुवीकरण की यह बीजेपी की साजिश है.”
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *