बीजेपी के नेता स्‍वयं को भगवान समझ रहे हैं: शिवसेना

मुंबई। महाराष्‍ट्र में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच शिवसेना ने आज अपनी पूर्व सहयोगी पार्टी बीजेपी पर बड़ा हमला बोला। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि बीजेपी के नेता अपने आपको भगवान समझ रहे हैं और सोच रहे हैं कि वह कुछ भी कर सकते हैं। बीजेपी नेताओं की अपुन ही भगवान वाली सोच गलत है। देश में बड़े-बड़े बादशाह आए और चले गए लेकिन देश का लोकतंत्र कायम है। उन्‍होंने कहा कि एनडीए किसी की प्रॉपर्टी नहीं है। उन्‍होंने सवाल किया कि किससे पूछकर हमें निकाला गया है।
मीडिया से बातचीत में संजय राउत ने कहा, ‘बीजेपी नेताओं की अपुन ही भगवान वाली सोच गलत है। महाराष्ट्र में राष्‍ट्रपति शासन के लिए हम नहीं बीजेपी जिम्‍मेदार है। (बीजेपी नेता) अपने आपको भगवान समझ रहे हैं। कोई अपने आपको भगवान न समझे। दिल्‍ली में बड़े-बड़े बादशाह आए और गए। देश का लोकतंत्र कायम है।’
एनडीए से निकालने के ऐलान पर भी संजय राउत ने निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, ‘एनडीए से निकालने वाली घोषणा बेबुनियाद है। किस आधार पर एनडीए से शिवसेना को निकाला गया है। शिवसेना एनडीए को बनाने वाली पार्टी है। हमने हमेशा एनडीए का साथ दिया और जो हमेशा साथ रहा उसे निकाला है। किसी से पूछे बिना शिवसेना को निकाला गया है।’ उन्‍होंने कहा कि दिसंबर के पहले सप्‍ताह तक महाराष्‍ट्र में नई सरकार बन जाएगी।
शिवसेना कैंप की धड़कनें बढ़ीं
बता दें कि महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की फाइनल स्क्रिप्ट दिल्ली में अगले एक-दो दिनों में लिखी जाएगी। एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार आज दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे, जिनका रुख इस संभावित गठबंधन का भविष्य तय करेगा। सोनिया से मुलाकात से पहले पवार आज अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल, मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे कांग्रेस के अहम नेताओं से मिलेंगे। दूसरी तरफ, सरकार गठन में हो रही देरी से शिवसेना कैंप की धड़कनें बढ़ रही हैं।
शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के बीच जिस कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार हुआ है उस पर आखिरी मुहर दिल्ली में ही लगेगी। एनसीपी चीफ शरद पवार ने रविवार को पुणे में पार्टी के सीनियर नेताओं के साथ चर्चा की। सोनिया-पवार मुलाकात से ही स्पष्ट हो जाएगा कि महाराष्ट्र में अगली सरकार कैसी होगी। दोनों नेताओं की मुलाकात में सबकुछ ठीक रहा तो शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी एक-दो दिनों में दिल्ली आ सकते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *