बहरीन में राहुल के नफरत वाले बयान पर बीजेपी का पलटवार

नई दिल्ली। बीजेपी ने बतौर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पहले विदेश दौरे में दिए उनके नफरत वाले बयान को लेकर पलटवार किया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि संघ के स्वयंसेवक जब कर्नाटक और केरल में मारे जाते हैं तब राहुल गांधी को इसमें घृणा क्यों नहीं दिखाई देती।
दरअसल, राहुल गांधी बतौर पार्टी अध्यक्ष अपने पहले विदेश दौरे पर बहरीन गए हुए हैं। यहां सोमवार को भारतीयों को संबोधित करते हुए उन्होंने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि सरकार बेरोजगार युवाओं के गुस्से को नफरत में बदल रही है। राहुल ने प्रवासी भारतीयों से घृणा और विभाजनकारी शक्तियों से लड़ने में मदद की भी अपील की थी।
मंगलवार को रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जो कांग्रेस पार्टी नारी न्याय, नारी सम्मान और नारी गरिमा पर एक स्टैंड नहीं ले सकती वो विदेश में हमारी सरकार के खिलाफ बोल रही है। प्रसाद ने सवाल पूछते हुए कहा कि राहुलजी बताएं, तीन तलाक पर आपकी पार्टी ने जो स्टैंड लिया वह क्या प्यार फैलाने वाला स्टैंड था या नफरत फैलाने वाला।
सोमवार को बहरीन में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए राहुल ने देश के बारे में अपना दृष्टिकोण रखा था। उन्होंने कहा था कि उनकी शीर्ष प्राथमिकता रोजगार, अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं और बेहतर शिक्षा है। कांग्रेस अध्यक्ष के इस दौरे को आगामी विधानसभा चुनावों के लिहाज से भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। खाड़ी के देशों में सबसे अधिक (35 लाख से अधिक) भारतीय नागरिक बसे हैं। बहरीन पहुंचने पर कांग्रेस पार्टी ने वीडियो के साथ ट्वीट भी किया था, ‘राहुल गांधी का अभिनंदन करने प्रशंसक और शुभचिंतक बहरीन एयरपोर्ट पर उमड़ आए।’
राहुल ग्लोबल ऑर्गनाइजेशन ऑफ पीपल्स ऑफ इंडियन ओरिजिन द्वारा आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए। बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम में 50 देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। तीन तलाक मुद्दे को लेकर रविशंकर प्रसाद ने राजीव गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि 1986 में राहुल गांधी के पिताजी ने पाप किया था।
-एजेंसी