भाजपा ने राहुल गांधी से पूछा, चीन के रास्ते कैलाश यात्रा पर क्‍यों जा रहे हैं?

नई दिल्ली। भाजपा ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर उनके चीन के बारे में दिए गए बयानों को लेकर जोरदार हमला बोला। भाजपा ने राहुल को चीन का प्रवक्ता बताते हुए उन पर चीन का विज्ञापन करने तक का आरोप मढ़ डाला। राहुल के कैलाश मानसरोवर यात्रा चीन के रास्ते करने पर सवाल उठाते हुए भाजपा ने कहा आखिर उन्हें चीन से इतना प्यार क्यों है। यहीं नहीं, बीजेपी ने राहुल को ‘चाइनीज’ गांधी तक बता डाला। बीजेपी ने सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर राहुल हर बात में भारत की तुलना चीन से क्यों करते हैं। हालांकि कांग्रेस ने इस पूरे मामले को नॉन इशू बताते हुए कहा है कि संबित पात्रा कौन होते हैं ये सब कहने वाले। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने ट्वीट कर इसे बीजेपी की कुंठा बताया। उन्होंने बीजेपी पर राहुल की यात्रा पर राजनीति का भी आरोप लगा डाला।
वीडियो जारी कर राहुल पर बोला हमला
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कुछ वीडियो जारी कर राहुल गांधी द्वारा चीन के बारे में दिए गए बयानों पर तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘राहुल ने कहा था कि चीन हर रोज 50 हजार युवाओं को रोजगार देता है जबकि भारत एक दिन में 450 युवाओं को ही रोजगार दे पाता है। आखिर राहुल को यह जानकारी कहां से मिली। पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत में नौकरी की स्थिति पर संसद में डेढ़ घंटे भाषण दिया लेकिन राहुल को पता नहीं चला, और चीन 50 हजार नौकरी देता है उन्हें यह मालूम है। दरअसल, राहुल भारत के नजरिए को समझना ही नहीं चाहते हैं। वह चीन का विज्ञापन करने में लगे हैं।’
वाया नेपाल, चीन के रास्ते कैलाश यात्रा पर उठाए सवाल
पात्रा ने कहा कि राहुल नेपाल के रास्ते कैलाश यात्रा के लिए चीन गए हैं। उन्होंने कहा, ‘हम कांग्रेस से पूछना चाहते हैं कि राहुल चीन में किन-किन नेताओं से मिलेंगे। राहुल बताएं कि वह चीनी प्रवक्ता की तरह क्यों बर्ताव कर रहे हैं, भारत के नागरिक के तौर पर क्यों नहीं चर्चा करते हैं। राहुल जी आप चीन में किनसे-किसने मिलेंगे, क्या-क्या चर्चा करने वाले हैं। उम्मीद है कांग्रेस इस पर जवाब देगी।’
डोकलाम बयान पर भी साधा निशाना
भारत-चीन में हुए डोकलाम तनाव पर राहुल के बयानों को लेकर भी बीजेपी ने जोरदार हमला बोला। बीजेपी प्रवक्ता ने कहा, ‘जब डोकलाम में तनाव था तो राहुल बिना किसी को विश्वास में लिए रात के अंधेरे में भारत में चीन के राजदूत के साथ बैठक कर रहे थे। जब मीडिया में फोटो सामने आई तब पहले तो कांग्रेस ने इससे इंकार कर दिया। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा था कि यह झूठी खबर है लेकिन जब फोटो सामने आई तब कांग्रेस ने माना कि गांधी परिवार ने चीनी राजदूत के साथ एक गुप्त मीटिंग की थी।’ उन्होंने पूछा कि अगर राहुल डोकलाम पर कुछ जानना चाहते थे तो विदेश मंत्री से पूछ सकते थे। विदेश सचिव और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से भी जानकारी ले सकते थे लेकिन उन्हें तो केवल चीन का नजरिया जानना था। डोकलाम के समय सभी नॉर्म को धता बताकर वह चीनी राजदूत से मिले।’
जर्मनी यात्रा में डोकलाम पर बयान नहीं
पात्रा ने कहा कि अपनी जर्मनी यात्रा पर जब राहुल से डोकलाम पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें डोकलाम के बारे में कुछ पता नहीं है इसलिए इस पर बयान नहीं दे सकता हूं। पात्रा ने पूछा, ‘फिर आप डोकलाम पर किस प्रकार बोल रहे थे? आपने डोकलाम को धोखलाम भी कहा था। सेना और सरकार ने डोकलाम पर जवाब दिया था। संसद में जब इस मुद्दे पर चर्चा हुई थी, तब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था कि वह पूरी जिम्मेदारी के साथ बयान दे रही हैं पर राहुल को विदेश मंत्री में भी विश्वास नहीं था। उन्होंने चीनी राजदूत से नजरिया जाना। यह सांसद के तौर पर उनकी स्थिति को दर्शाता है।’
कांग्रेस ने बीजेपी के आरोपों को बताया कुंठा
उधर, कांग्रेस ने राहुल गांधी की कैलाश यात्रा पर बीजेपी के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि यह बीजेपी की कुंठा को दर्शाता है। पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा, ‘सत्ताधारी दल इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष भगवान शिव में आस्था के कारण यात्रा पर जा रहे हैं। बीजेपी की प्रतिक्रिया उनकी छोटी मानसिकता को दर्शाता है।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »