बिहार में RJD से रूठे तेज प्रताप को मिला भाजपा, JDU का साथ

पटना। बिहार में राजनीति पल पल बदल रही है, RJD में सीट बंटवारे के बाद बागी हो चुके तेज प्रताप यादव को विरोधियों का साथ मिला है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) और जनता दल (युनाइटेड) तेज प्रताप के पक्ष में उतर आए हैं। भाजपा के नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यहां बुधवार को कहा कि वंशवादी रातनीतिक पार्टियों में जब दो वारिस हो जाते हैं, तो ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में सीट बंटवारे के बाद बागी हो चुके तेज प्रताप यादव को विरोधियों का साथ मिला है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) और जनता दल (युनाइटेड) तेज प्रताप के पक्ष में उतर आए हैं।

सुशील मोदी ने कहा, “राजद वंशवाद की कलह झेल रहा है। यह दो वारिसों को बीच का संघर्ष है। सारण से तेज प्रताप यादव के ससुर को टिकट देना उनके लिए जले पर नमक छिड़कने जैसा है। राजद तेज प्रताप के जले पर नमक छिड़कने का काम कर रही है।” उन्होंने कहा कि राजद के कार्यकर्ताओं में तेज प्रताप की मांग ज्यादा है। लोगों का कहना है कि तेज प्रताप के भाषण देने की शैली लालू प्रसाद जैसी है। उन्होंने यह भी कहा कि यह संघर्ष अब थमने वाला नहीं है।

इधर, जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने भी तेज प्रताप के पक्ष में उतरते हुए कहा कि यह राजनीतिक हक की लड़ाई है, तो तेज प्रताप लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि तेज प्रताप अपने छोटे भाई से ज्यादा अंतर से विधानसभा चुनाव में विजयी हुए थे। इसके बावजूद उनको हक नहीं दिया गया।

उल्लेखनीय है कि तेज प्रताप यादव राजद में टिकट बंटवारे से नाराज हैं। उन्होंने जहानाबाद और शिवहर सीट से अपनी पसंद के प्रत्याशी को उतारने की मांग की है। तेज प्रताप अपने ससुर चंद्रिका राय को भी सारण से टिकट दिए जाने से नाराज हैं। सारण सीट से उन्होंने राबड़ी देवी से चुनाव लड़ने का आग्रह किया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »