बिहार पुलिस ने सिद्धू की कोठी पर चस्‍पा किया समन

अमृतसर। पूर्व क्रिकेटर व पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की मुश्किल बढ़ गई है। बिहार पुलिस का समन नहीं लेने के बाद वहां से आई टीम ने उनकी कोठी के बाहर समन का नोटिस चिपका दिया है। बिहार पुलिस की टीम आठ दिनों से अमृतसर में थी और सिद्धू की कोठी के बाहर चक्‍कर लगा रही थी। पुलिस टीम दिन भर उनकी कोठी के बाहर बैठी रहती थी, लेकिन उसे सिद्धू के बारे में कोई संतोषजनक नहीं मिला।
बता दें कि बि‍हार के कटिहार जिले में लोकसभा चुनाव के दौरान उनके विवादित भाषण के कारण चुनाव आचार संहिता के उल्‍लंघन का मामला दर्ज है। इसी को लेकर बिहार पुलिस टीम समन लेकर उनकी कोठी पर पहुंची थी। जब सिद्धू ने आठ दिन बीत जाने के बाद भी समन नहीं लिया तो इस बारे में बिहार पुलिस के कर्मियों ने उनकी कोठी के बाहर आज नोटिस चिपका दिया।
नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर चिपकाया गया नोटिस।
सिद्धू को पुलिस द्वारा नोटिस तामील करवाना है। पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर आरोप है कि उन्होंने अप्रैल 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार के कटिहार जिले में रैली में एक समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था।
बता दें कि बिहार के कटिहार जिले से आई पुलिस टीम सोमवार को भी दिन भर पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर पेड़ के नीचे बैठी रही लेकिन सिद्धू नहीं मिले। टीम के सदस्‍य सब इंस्पेक्टर जनार्दन राम और सब इंस्पेक्टर जावेद अहमद ने बताया कि वे लगातार सिद्धू को समन तामील कराने के लिए आते रहे लेकिन उनकी ओर से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। रविवार को उनके स्‍टाफ की ओर से कहा गया था सिद्धू सोमवार को मिल सकते हैं लेकिन पूरा दिन कोठी के बाहर इंतजार करनके बाद भी वह नहीं मिले और नोटिस रिसीव नहीं किया।
नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर बैठे बिहार पुलिस के अधिकारी।
बिहार पुलिस टीम के दोनो अधिकारियों ने कहा कि पूर्व मंत्री और उनके आसपास के लोगों के इस तरह का रवैया हताश करने वाला है। सोमवार को दोनों ने कहा था कि उन्हें आईजी विनोद कुमार ने समन की कॉपी रिसीव करवाने के बाद लौटने को कहा है इसीलिए वे एक सप्ताह से यहां डेरा डाले हुए हैं लेकिन मंगलवार को अधिकारियों के आदेश के बाद सिद्धू की कोठी के बाहर नोटिस चिपका दिया। टीम के सदस्‍य मंगलवार को भी नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर पहुंचे थे लेकिन उनका कोई जवाब न‍हीं मिला। बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। उनके लिए वहां ठंडे पानी के लिए वाटर कूलर हैं लेकिन बिहार पुलिस की टीम वहां पहुंची तो वाटर कूलर को वहां से हटा दिया गया।
यह है मामला
2019 के लोकसभा चुनाव के बाद नवजोत सिं‍ह सिद्धू ने बिहार में कांग्रेस उम्‍मीदवारों के समर्थन में जनसभाओं को संबोधित किया था। उन्‍होंने 16 अप्रैल 2019 को कटिहार के वरसोइ इलाके में कांग्रेस उम्‍मीदवार तारिक अनवर के पक्ष में जनसभा को संबोधित किया था। आरोप है कि सिद्धू ने सभा ने एक समुदाय विशेष को उकसाने वाला भाषण दिया। इस पर विवाद पैदा हो गया और विरोधियों ने उन पर निशाना साध दिया।
कांग्रेस प्रत्‍याशी तारिक अनवर ने भी उनके बयान से असहमति जताई और खुद को इससे अलग कर लिया। इसके बाद चुनाव पर्यवेक्षक की शिकायत पर सिद्धू के खिलाफ वरसोई थाने में केस दर्ज किया गया। बिहार पुलिस की टीम दिसंबर में भी नवजोत सिंह सिद्धू को नोटिस देने अमृतसर उनकी कोठी पर आई थी, लेकिन उस समय भी वह नहीं मिले थे और नोटिस रिसीव नहीं किया।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *