बिहार कांग्रेस के स्‍तंभ सदानंद सिंह नहीं रहे, सियासी गलियारे में शोक

पटना। बिहार के दिग्गज कांग्रेस नेता सदानंद सिंह नहीं रहे। बुधवार 8 सितंबर को उनका पटना के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। मूल रूप से भागलपुर जिले के रहने वाले 76 साल के सदानंद सिंह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। इसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई थी, जिसकी वजह से उनकोउनको इलाज के लिए पटना के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बुधवार को सदानंद सिंह ने अंतिम सांस ली। उनके निधन पर सियासी गलियारे में शोक की लहर दौड़ गई है।
सीएम नीतीश और पूर्व सीएम मांझी ने जताया शोक
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सदानंद सिंह के निधन पर शोक जताया है। सीएम नीतीश के सदानंद सिंह से अच्छे निजी संबंध थे। अलग-अलग गठबंधनों के बावजूद जब भी नीतीश भागलपुर जाते थे तो उनका सदानंद सिंह के घर जाना तय रहता था। सीएम नीतीश ने ऐलान किया है कि सदानंद सिंह का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।
वहीं पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने भी सदानंद सिंह के निधन पर शोक जताया है। मांझी की पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा है कि जीतन राम मांझी सदानंब बाबू के निधन से मर्माहत हैं। मांझी ने कहा कि सदानंद बाबू के निधन ने बिहार की राजनीति में एक ऐसा शून्य छोड़ दिया है जो कभी भर नहीं पाएगा।
तेजस्वी यादव ने भी जताया शोक
बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी सदानंद बाबू के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने कहा है कि ‘बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री श्री सदानंद सिंह जी के निधन पर गहरी शोक-संवेदना व्यक्त करता हूं। उनका लंबा सामाजिक-राजनीतिक अनुभव रहा। वो एक कुशल राजनेता थे। ईश्वर से उनकी आत्मा को शांति तथा शोक संतप्त परिजनों को दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।’
पूर्व विधायक मुन्ना शाही ने भी जताया शोक
JDU के पूर्व विधायक गजानंद शाही उर्फ मुन्ना शाही ने भी सदानंद सिंह के निधन पर शोक जताया है। अपने शोक संदेश में उन्होंने कहा है कि सदानंद बाबू एक ऐसे नेता थे जिनका किसी से कोई बैर नहीं था। वो पक्ष के साथ विपक्ष के नेताओं के लिए भी प्रेरणास्रोत थे। आजीवन उन्होंने राजनीति के उच्च मूल्यों का पालन किया।
कहलगांव से 9 बार जीते थे सदानंद सिंह
सदानंद सिंह भागलपुर ज‍िले के कहलगांव के विधानसभा से नौ बार जीतकर विधायक बने। सदानंद सिंह बिहार विधानसभा के अध्यक्ष भी रह चुके थे। इसके अलावा वो ब‍िहार सरकार में स‍िंचाई मंत्री के पद को भी संभाल चुके थे। सदानंद बाबू भागलपुर ज‍िले के कहलगांव अनुमंडल में धुआवै के रहने वाले थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *