ऑनलाइन बैठक में राहुल से बोले बिहार कांग्रेस के नेता, अब बहुत देर हुई

नई दिल्‍ली। भले ही बिहार विधानसभा चुनाव कुछ महीने दूर हैं, लेकिन राज्य कांग्रेस के नेताओं ने एक ऑनलाइन पार्टी बैठक के दौरान राहुल गांधी से कहा कि संगठनात्मक ढांचे के अभाव में बिहार में चुनावी लड़ाई की तैयारी में बहुत देर हो चुकी है।
पार्टी सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। राहुल गांधी ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य इकाई के नेताओं के साथ बैठक की थी।
अब देर हो चुकी
बैठक के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर उन नेताओं में से थे, जिन्होंने कहा कि अप्रैल-मई 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस को तैयारियां करनी शुरू कर देनी चाहिए थी। सूत्रों ने कहा कि पार्टी के नेताओं ने बताया कि राज्य में कांग्रेस का संगठनात्मक ढांचा कमजोर है।
सूत्रों के मुताबिक राज्य के नेताओं ने कहा, ‘बहुत देर हो चुकी है।’ भले ही राहुल गांधी ने कहा है कि पार्टी समय पर महागठंबधन भागीदारों के साथ अपने सीट-बंटवारे समझौते को अंतिम रूप देगी।
ब्लॉक स्तर तक के 1,000 पार्टी कैडर बैठक में शामिल
कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि ब्लॉक स्तर तक के 1,000 पार्टी कैडर बैठक में शामिल हुए, जो बाद में एक वर्चुअल रैली में बदल गया क्योंकि एक लाख से अधिक लोग विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से शामिल हुए। राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को राज्य के लोगों को सुशासन प्रदान करने के ‘सकारात्मक एजेंडे’ के साथ बिहार चुनाव लड़ने के लिए कहा था।
वर्चुअल रैली में बोले राहुल गांधी, आगे बड़ा तूफान आने वाला है
इससे पहले राहुल गांधी ने एक वर्चुअल रैली में कहा, “मैंने फरवरी में कोरोना के बारे में आगाह किया था कि तूफान आने वाला है। मैं यहां दोहराना चाहता हूं कि मैंने खुशी से नहीं बोला था। जब मैं बोलता था तो दुख होता था। उस वक्त मुझे दिख रहा था हिंदुस्तान में क्या होने वाला है।” उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले समय में इससे भी बड़ा तूफान आने वाला है।
‘संवैधानिक ढांचा, रोज़गार फिर से खड़े हो सकते हैं लेकिन प्यार से नफरत से नहीं’
राहुल गांधी ने कहा, “मैं बिहार के भाईयों से पूछना चाहता कि पूरे देश के निर्माण में आपका योगदान रहा है लेकिन जब कोरोना आया, जब संकट आपके ऊपर आया, तो आपके साथ आपकी सरकार खड़ी नहीं रही।” उन्होंने आगे कहा कि संवैधानिक ढांचा, रोज़गार, अर्थव्यवस्था फिर से खड़े हो सकते हैं लेकिन प्यार से, नफ़रत से नहीं। और यह काम सिर्फ़ कांग्रेस ही कर सकती है। कांग्रेस नेता ने बिहार में कोरोना और बाढ़ की स्थिति को लेकर नीतीश कुमार पर निशाना साधा और दावा किया कि इन मुद्दों और भ्रष्टाचार को लेकर नीतीश की चुप्पी यह साबित करती है कि मुख्यमंत्री के तौर पर वह विफल रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *