बिहार: चिराग पासवान को बड़ा झटका, प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील पांडे ने पार्टी से इस्तीफा दिया

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में चिराग पासवान और एलजेपी को बड़ा झटका लगा है। पूर्व विधायक और एलजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील पांडे ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। वह तरारी विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। सुनील पांडे एलजेपी से पहले जेडीयू में थे। 2015 में उन्होंने जेडीयू छोड़ कर एलजेपी का दामन थाना था। तरारी से उनकी पत्नी विधानसभा चुनाव लड़ी थीं लेकिन चुनाव हार गई थीं।
बिहार चुनाव से पहले सभी गठबंधनों में सीट शेयरिंग को लेकर फैसला हो गया है। एलजेपी लगातार बीजेपी में सेंधमारी कर रही है।
इस बार भी सुनील पांडे तरारी से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे लेकिन एलजेपी एनडीए गठबंधन से अलग हो गई है। तरारी सीट बीजेपी के खाते में चली गई है। एलजेपी ने साफ किया है कि हम बीजेपी के खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारेंगे। सुनील पांडे या फिर उनके परिवार के किसी सदस्य को पार्टी टिकट नहीं देती। ऐसे में सुनील पांडे यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं। अभी इस सीट पर लेफ्ट का कब्जा है।
बाहुबली हैं सुनील पांडेय
सुनील पांडे बाहुबली हैं। अपराध की दुनिया में उनके ऊपर कई केस दर्ज हैं। विवादों की वजह से वह हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। पिछले दिनों एके-47 की तलाश में सुनील पांडे के आवास पर भी छापेमारी हुई थी। सुनील पांडेय ने जेल में रहते हुए पीएचडी भी कर ली थी। उन्होंने एक किताब भी लिखी है। एलजेपी में जाने से पहले सुनील पीरो से चुनाव लड़ते रहे हैं। वह 2 बार जेडीयू और 1 बार समता पार्टी से विधायक रहे हैं।
रणवीर सेना सुप्रीमो की हत्या में सामने आया था नाम
आरा में रणवीर सेना सुप्रीमो ब्रह्मेश्वर मुखिया की हत्या हुई थी। इस हत्या में भी सुनील पांडे का नाम सामने आया था। उस समय सुनील पांडे जेडीयू के विधायक थे। मामले की जांच पहले एसआईटी ने की लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला। उसके बाद केस की जांच सीबीआई को सौंप दिया गया। लेकिन इस केस की जांच में सीबीआई को भी आज तक कोई सुराग नहीं लगे हैं।
इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ कर आए थे सुनील पांडे
सुनील पांडे की कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। रोहतास के नावाडीह गांव के रहने वाले नरेंद्र पांडे उर्फ सुनील पांडे 12वीं के बाद इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए बेंगलुरु गए थे। पढ़ाई के दौरान वहां किसी लड़के से झगड़ा हो गया। झगड़े के दौरान सुनील पांडे ने उस युवक को चाकू मार दिया। उसके बाद पढ़ाई छोड़ कर वापस घर लौट आए हैं। और फिर अपराध की दुनिया में कदम रख दिया। उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज उनके ऊपर दर्जनों केस दर्ज हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *