बड़ा रेल हादसा टला, नंदादेवी एक्सप्रेस Derail करने की आतंकी साजिश नाकाम

रेल पटरियों पर रख दिया 17 फीट लंबा गाटर, ट्रेन को Derail करने की थी साजिश

मेरठ। आज एक बड़ा रेल हादसा होते होते बच गया, उत्तर प्रदेश के मेरठ जिला में हरिद्वार से दिल्ली जा रही नंदादेवी एक्सप्रेस Derail करने की साजिश का खुलासा हुआ है।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार दिल्ली-मेरठ-देहरादून रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों को पलटाने की बड़ी साजिश के तहत आज रविवार तड़के करीब चार बजे साजिशकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक पर 17 फुट लंबा लोहे का गार्टर रख दिया। देहरादून से दिल्ली जा रही नंदा देवी एक्सप्रेस के दो पहिये गार्टर के ऊपर चढ़ गए। इससे गार्टर के तीन टुकड़े हो गए। अचानक इमरजेंसी ब्रेक लगने से ट्रेन रुक गई। ट्रेन के झटके लेने से यात्रियों की नींद खुल गई। वे हड़बड़ा गए। लोको पायलट ने तुरंत पुट्ठा रेलवे फाटक को फोन करके स्टाफ को बुलवाया। इसके बाद ट्रैक से गार्टर हटाया गया।
लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोकने की तारीफ की जा रही है

रेलवे स्टाफ के मुताबिक, गार्टर करीब 17 फुट चौड़ा था। उसे ट्रेन की दोनों पटरियों पर आरपार रखा गया था, ताकि ट्रेन का पहिया उसके ऊपर चढ़ जाए। हालांकि गनीमत यह रही कि नंदा देवी एक्सप्रेस का पहिया गार्टर के ऊपर चढ़ने के बाद बेपटरी नहीं हुआ। वरना बड़ा हादसा हो सकता था। करीब आठ मिनट तक एक्सप्रेस खड़ी रही। गार्टर हटाने के बाद एक्सप्रेस ट्रेन को दिल्ली के लिए रवाना किया गया। इसके करीब पांच मिनट बाद ही देहरादून से दिल्ली को जा रही मालगाड़ी सकुशल गुजरी।

एसएसपी और सिटी मजिस्ट्रेट पहुंचे मौके पर
जानकारी मिलने पर रविवार दोपहर में एसएसपी राजेश कुमार पांडेय और सिटी मजिस्ट्रेट शैलेंद्र सिंह पुट्ठा रेलवे हॉल्ट पर पहुंचे। उन्होंने रेलवे स्टाफ से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। एसएसपी ने कहा कि Derail के हादसे को अंजाम देने के लिए यह किसी की साजिश थी। इसकी जांच की जा रही है।

बार-बार कौन कर रहा साजिश
ट्रेनों को लेकर बार-बार कौन साजिश रच रहा है। एक दिन पहले दिल्ली से हावड़ा जा रही राजधानी एक्सप्रेस में बम की झूठी अफवाह फैला दी गई। इससे पहले मोदीनगर और खतौली क्षेत्र में भी रेलवे लाइनों को बाधित करके ट्रेनों को पलटाने का प्रयास हुआ है।

रेलवे के अधिकारियों ने रेलवे ट्रैक से गाटर हटवाकर ट्रेनों का संचालन शुरू करवाया। अधिकारियों ने आशंका जताई है कि ये ट्रेन पलटने की साजिश थी, लेकिन पायलेट की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा होने से बच गया। घटनास्थल से 20 मीटर दूर ही IOC का डिपो है। फिलहाल नंदादेवी एक्सप्रेस को Derail करने की आतंकी साजिश के पूरे मामले की पड़ताल की जा रही है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »