बड़ी कामयाबी: पुलवामा हमले का मास्‍टरमाइंड जैश कमांडर सज्‍जाद मारा गया

अनंतनाग। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मंगलवार सुबह सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। पुलवामा आतंकी हमले के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक और जैश कमांडर सज्जाद भट को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ ढेर कर दिया है। उसके अलावा इस एनकाउंटर में एक अन्य आतंकी भी मारा गया है। हालांकि सेना का एक जवान भी इस ऑपरेशन में शहीद हुआ है। सुरक्षाबल इलाके की घेराबंदी कर तलाशी ले रहे हैं।
पुलवामा हमले के बाद से ही भट की थी तलाश
बता दें कि पुलवामा हमले के बाद से ही सज्जाद भट सुरक्षाबलों के निशाने पर था। सज्जाद ने ही कार में आईईडी भरकर सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाने की पूरी प्लानिंग की थी। अब तक तलाशी के दौरान आतंकियों के ठिकाने से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किया गया है।
कौन है सज्जाद भट
पुलवामा आतंकी हमले के बाद NIA ने भट के बारे में खुलासा किया था। भट ने हमले से 10 दिन पहले यह मारुति इको कार खरीदी थी। भट दक्षिणी कश्मीर के बिजेहरा का रहने वाला था। यह इलाका आतंकी संगठन जैश का गढ़ माना जाता है। भट ने देवबंदी मदरसा सिराज-उल-उलम से पढ़ाई की थी। भट की मां त्राल की रहने वाली है। आंतकवादी बुरहान वानी भी त्राल का रहने वाला था। भट के माता-पिता ने कथित तौर पर बुरहान के ढेर होने के बाद हुई हिंसा में हिस्सा लिया था। भट की पहचान जैश के आत्मघाती हमलावर के तौर पर थी। उसे 2018 में हिरासत में भी लिया गया था जबकि भट के पिता को 2017 में पकड़ा गया था।
भट को बेचने से पहले 7 बार बिकी थी गाड़ी
NIA ने बताया कि इस गाड़ी का चेसिस नंबर MA3ERLF1SOO183735 और इंजन नंबर G12BN164140 था। जलील ने यह कार वर्ष 2011 में खरीदी थी। इसके बाद यह कार सात बार बिकी और अंत में सज्‍जाद ने उसे खरीदा था।
पुलवामा हमले में CRPF के 40 जवान हुए थे शहीद
बता दें कि पुलवामा में इसी साल 14 फरवरी को आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक काफिले को निशाना बनाया था। आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले में शामिल एक वाहन को उड़ा दिया था। इस कायराना हमले में सीआरपीएफ के 40 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे। इस हमले के बाद जम्मू-कश्मीर के बनिहाल में भी सीआरपीएफ के काफिले को कार बम से उड़ाने की साजिश रची गई थी, हालांकि आतंकी इस हमले में सफल नहीं हो पाए थे।
खुफिया सूचना पर सुरक्षाबलों ने की कार्यवाही
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर जिले के बिजबेहरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में मिली खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने मंगलवार सुबह घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू किया था। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चला दीं, जिसके बाद जवाबी कार्यवाही में दो आतंकी मारे गए हैं।
इससे पहले सोमवार को भी अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे। मुठभेड़ में मेरठ के रहने वाले मेजर केतन शर्मा भी शहीद हो गए थे जबकि दो अन्य जवान घायल हुए थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »