बिहार को बड़ी सौगात, पीएम ने किया 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास

नई दिल्‍ली। बिहार चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से प्रदेश वासियों को बड़ी सौगात दी है। सोमवार को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 350 किमी. लम्बी 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इनकी लागत 14260 करोड़ रुपये है। इन नेशनल हाइवे के बनने से जहां बिहार में विकास को बढ़ावा मिलेगा। इसके साथ ही लोगों को बेहतर संपर्क और सुविधाएं मुहैया होंगी। बिहार में इन परियोजनाओं के पूरा होने से पड़ोसी राज्यों खासकर उत्तर प्रदेश और झारखंड के लोगों के साथ-साथ सामानों की आवाजाही सुगम होगी। सूबे के आर्थिक विकास में भी ये ये बेहद अहम साबित होंगी।
​4 लेन बख्तियारपुर-रजौली रोड का निर्माण
बख्तियारपुर से लेकर रजौली तक सड़क निर्माण को फोर लेन किया जाएगा। राष्ट्रीय राजमार्ग-31 से संबंधित इस सड़क की लंबाई करीब 47 किलोमीटर होगी। इसे में बनाने में 1150 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसी तरह से बख्तियारपुर-रजौली सड़क का निर्माण 4 लेन (पैकेज- III) को भी तैयार किया जाएगा। एनएच-31 से संबंधित इस प्रोजेक्ट की लंबाई 51 किमी होगी। इसमें 2651 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इस राजमार्ग के बनने से बिहार-झारखंड के बीच सड़क संपर्क बेहतर होगा।
4 लेन आरा-परारिया सड़क निर्माण
परियोजना में आरा-परारिया सड़क निर्माण भी शामिल है, इसे फोर लेन किया जाएगा। एनएच-30 से संबंधित इस प्रोजेक्ट की लंबाई 61 किमी. है। इसके निर्माण में 886 करोड़ रुपये की लागत आएगी। बिहार में सड़कों और राजमार्गों की स्थिति में सुधार के मद्देनजर ये परियोजनाएं बेहद अहम हैं।
नरेनपुर -पूर्णिया सड़क निर्माण, पटना रिंग रोड 6 लेन प्रोजेक्ट
नरेनपुर -पूर्णिया सड़क का निर्माण किया जाएगा, इसे फोर लेन किया जाएगा। एनएच-131 ए से जुड़े इस प्रोजेक्ट की लंबाई 49 किमी. होगी। इसमें 2288 करोड़ की लागत आएगी। इसी तरह से रामनगर-कन्हौली (पटना रिंग रोड) सड़क का निर्माण भी किया जाएगा। इसे 6 लेन किया जा रहा है। एनएच-131 जी से जुड़े इस प्रोजेक्ट की लंबाई 39 किमी है। इसमें 913 करोड़ रुपये की लागत आएगी।
4 लेन परारिया- मोहनिया सड़क का निर्माण
फोर लेन परारिया- मोहनिया सड़क का निर्माण करना भी प्रोजेक्ट का हिस्सा है। एनएच-30 से जुड़े इस प्रोजेक्ट की लंबाई 61 किमी. होगी। इसमें 856 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इस मार्ग के बन जाने से पटना-वाराणसी के बीच यात्रा में काफी समय बचेगा।
महात्मा गांधी सेतु के समानान्तर नए 4 लेन पुल का निर्माण
महात्मा गांधी सेतु के समानांतर ही नए 4 लेन पुल का निर्माण कार्य भी तेजी से चल रहा है। एनएच-19 पर इस प्रोजेक्ट की लंबाई 14 किमी है, जिसमें 2927 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इस पुल के बनने से पटनावासियों को बहुत फायदा होगा। गंगा पर विश्वस्तरीय पुल बनने से जाम की समस्या खत्म होगी। उत्तर-दक्षिण बिहार के बीच आवागमन सुगम होगा।
कोसी नदी पर नए 4 लेन पुल का निर्माण
कोसी नदी पर नए 4 लेन पुल का निर्माण होने के बाद इस क्षेत्र की स्थिति में बड़ा बदलाव आ जाएगा। एनएच-106 में इस प्रोजेक्ट की लंबाई 29 किमी है। इसके निर्माण में 1478 करोड़ रुपये की लागत आएगी। कोसी ब्रिज बनने से बिहार से नेपाल, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर के राज्यों से संपर्क सुगम हो जाएगा।
विक्रमशिला सेतु के समानांतर नए 4 लेन पुल का निर्माण
इस परियोजना के तहत गंगा नदी पर विक्रमशिला सेतु के समानांतर नए 4 लेन पुल का निर्माण किया जाएगा। एनएच-131 बी में इस प्रोजेक्ट की लंबाई 5 किमी है। इसे बनाने 1110 करोड़ रुपये की लागत आएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *