रेलवे ने कहा: न किसी की नौकरी जाएगी, और न भर्तियां कम होंगी

नई दिल्‍ली। कोरोना संकट के बीच खबर आई है कि रेलवे ने एक बड़ा फैसला लेते हुए नई भर्तियों पर रोक लगाने का फैसला किया है। साथ ही ये खबर भी आई रेलवे पिछले दो सालों में निकाल गए पदों की समीक्षा करेगा और 50 फीसदी पदों को सरेंडर भी किया जाएगा। इसके लिए रेलवे की तरफ से बाकायदा एक नोटिस जारी किया गया था। जैसे ही ये खबर आई हर ओर एक तरह का डर फैल गया और लगने लगा कि शायद अब रेलवे भी तमाम कंपनियों की तरह लोगों को नौकरी से निकालेगा। लेकिन अब रेलवे से राहत भरी खबर आ गई है।
इस नोटिस ने पैदा की थी दहशत
रेलवे ने कहा है कि न तो किसी की नौकरी जा रही है और नही भर्तियां कम करने की कोई योजना है। हालांकि, रेलवे ने ये जरूर कहा है कि आने वाले समय में रेलवे कर्मचारियों की जॉब प्रोफाइल बदली जा सकती है। रेलवे की इस घोषणा के बाद लोगों को कुछ राहत मिली है। ये है वो नोटिस, जिसके बाद रेलवे कर्मचारियों में एक डर फैल गया था।
क्या बोले रेलवे के डीजी (एचआर)
रेलवे के डीजी (एचआर) आनंद एस खाती कहते हैं कि रेलवे से ना ही किसी की नौकरी जा रही है, ना ही नौकरियां कम हो रही हैं। उन्होंने ये भी कहा कि ट्रेन संचालन और रख-रखाव की किसी भी सुरक्षा श्रेणी की नौकरी को सरेंडर नहीं किया जाएगा।
कौन से पद होंगे सरेंडर?
खाती ने कहा कि गैर-सुरक्षा के खाली पदों को सरेंडर किया जाएगा, जिससे रेलवे इंफ्रास्ट्रक्चर की नई परियोजनाओं और ज्यादा सुरक्षा वाली वैकेंसी निकालने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि तमाम श्रेणियों के पदों पर भर्तियां जारी रहेंगी और रेलवे नौकरियों में कोई कटौती नहीं करेगा।
बदले जाएंगे कुछ जॉब प्रोफाइल
रेलवे ने एक बात ये जरूर साफ कर दी है कि कुछ जॉब प्रोफाइल बदले जाएंगे। इससे कर्मचारियों की कुशलता बढ़ेगी, लेकिन कोई कटौती नहीं होगी। बता दें कि अभी रेलवे में कुल 12,18,335 कर्मचारी हैं। अभी रेलवे की कमाई का 65 फीसदी हिस्सा वेतन और पेंशन भुगतान पर खर्च होता है। 2018 के बाद से रेलवे ने सुरक्षा श्रेणी में 72,274 और गैर सुरक्षा श्रेणी में 68,366 पद हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *