राजस्थान के आद‍िवास‍ियों के साथ बड़ा धोखा, Gehlot को भेजा खुला पत्र

जयपुर। राष्ट्रीय मूलवासी-आदिवासी मोर्चा के मुख्य संयोजक डॉ. पुरुषोत्तम लाल मीणा ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक Gehlot को आद‍िवास‍ियों के ख‍िलाफ न‍िर्णय क‍िए जाने पर एक खुला पत्र भेजा है ज‍िसमें मीणा ने ल‍िखा है क‍ि 9 अगस्त, 2019 को विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर तो राजस्थान के आदिवासियों को दो भागों में विभाजित करके, आपकी सरकार ने प्रकृति रक्षक आदिवासियों के विश्वास को बेरहमी से तोड़ने और कुचलने का काम किया है। आपका यह निर्णय जहां एक ओर राष्ट्रीय स्तर पर आदिवासियों के स्वाभिमान के विरुद्ध है, वहीं यह राजस्थान सहित सम्पूर्ण भारत में आदिवासी मतदाताओं को जानबूझकर नाराज करके, कांग्रेस को कमजोर करने वाला भी सिद्ध होगा। आपके इस आदिवासी विरोधी निर्णय का औपचारिक रूप से विरोध करने हेतु ‘राष्ट्रीय मूलवासी आदिवासी मोर्चा’ की ओर से स्वतंत्रता दिवस पर राजस्थान सरकार को तथा सरकार के निर्णय का विरोध नहीं करने वाले सभी आदिवासी विधायकों को बारम्बार धिक्कार प्रेषित किया जाता है।

वर्तमान राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस को मिले बहुमत में समस्त राजस्थान के सभी आदिवासी समुदायों के मतों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। जिसके कारण आप तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने हैं। मगर आपकी सरकार के मंत्रीमंडल में न तो आदिवासियों को उचित तथा सम्मानजनक प्रतिनिधित्व प्रदान किया गया और न ही राजस्थान में आदिवासियों की जानमाल सुरक्षित है।

उपरोक्त के बावजूद भी ‘राष्ट्रीय मूलवासी आदिवासी मोर्चा’ यह उम्मीद करता है कि राजस्थान सरकार के आदिवासी विरोधी निर्णयों और कुटिल नीति को सुधारने हेतु आप और कांग्रेस नेतृत्व द्वारा समय रहते पुनर्मूल्यांकन किया जायेगा। जिससे राजस्थान में बिना पूर्वाग्रह के हम आदिवासियों के संवैधानिक हकों तथा स्वाभिमान की रक्षा की उम्मीद फिर से जगायी जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *