खनन घोटाले में ED की बड़ी कार्यवाही, आठ IAS सहित 11 अफसरों पर FIR

नई दिल्‍ली। उत्‍तर प्रदेश के बहुचर्चित खनन घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्यवाही की है। सहारनपुर खनने घोटाले में CBI के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय ED ने भी केस दर्ज कर लिया है। इस मामले में सहारनपुर के पूर्व डीएम पवन कुमार और अजय सिंह पर भी केस दर्ज किया गया है। अब तक ED ने राज्‍य के 8 IAS अधिकारियों सहित कुल 11 अफसरों पर FIR दर्ज कर ली है। जिन अधिकारियों पर केस दर्ज हुए हैं उसमें चर्चित अधिकारी बी चंद्रकला भी शामिल हैं।
बता दें कि 30 सितंबर को CBI द्वारा FIR दर्ज कर 1 अक्तूबर को सहारनपुर और लखनऊ समेत 11 स्थानों पर छापे मारे गए थे। इसी के बाद प्रवर्तन निदेशालय ED ने भी केस दर्ज करने के लिए अपने दिल्ली स्थित मुख्यालय से अनुमति मांगी थी। केंद्र से अनुमति मिलने के बाद अब इस मामले में FIR दर्ज कर ली गई है।
ED ने CBI की FIR को आधार बनाकर मनी लांड्रिंग के तहत केस दर्ज कर छानबीन शुरू की है। ED इससे पूर्व हमीरपुर, फतेहपुर व देवरिया समेत अन्य जिलों में हुए खनन घोटालों के मामलों में भी केस दर्ज कर चुकी है। प्रदेश के प्रशासनिक अधिकारियों पर यह सबसे बड़ी कार्यवाही मानी जा रही है। जिन IAS अफ़सरो पर FIR दर्ज हुई है, उसमें हमीरपुर की पूर्व डीएम बी चंद्रकला, फतेहपुर के पूर्व डीएम अभय सिंह, देवरिया के पूर्व डीएम विवेक, देवरिया के पूर्व एडीएम देवी शरण उपाध्‍याय, पूर्व विशेष खनन सचिव संतोष कुमार राय और पूर्व प्रमुख खनन सचिव जीवेश नंदन शामिल हैं। इसके अलावा इस मामले में सहारनपुर के पूर्व डीएम पवन कुमार और अजय सिंह पर भी केस दर्ज किया गया है।
सपा शासनकाल में हुए खनन घोटाले के मामले में CBI लंबे समय से छानबीन कर रही है। सहारनपुर खनन घोटाले के मामले में दिल्ली CBI ने 30 सितंबर को सहारनपुर के तत्कालीन डीएम अजय कुमार सिंह व पवन कुमार तथा पूर्व एमएलसी हाजी मु. इकबाल के बेटे मुहम्मद वाजिद समेत 12 आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर एक अक्टूबर को उनके ठिकानों पर छापेमारी की थी। CBI ने सहारनपुर के तत्कालीन डीएम अजय कुमार के लखनऊ के गोमतीनगर स्थित आवास से 15 लाख रुपये व दो भूखंडों के कागजात भी बरामद किए थे। ED ने अपने केस में दोनों IAS अधिकारी समेत सभी 12 आरोपितों के नाम शामिल किए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »