भोपाल gangrape केस के चारों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा

भोपाल। भोपाल gangrape केस के चारों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुना दी गई. भोपाल में यूपीएससी की तैयारी कर रही छात्रा से gangrape मामले में फास्ट ट्रैक ने अपना फैसला सुना दिया है. गैंगरेप के सभी चारों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है.

बता दें कि 31 अक्टूबर की देर शाम भोपाल में यूपीएससी की कोचिंग कर रही 19 साल की छात्रा के साथ चार आरोपियों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था.

घटना हबीबगंज आरपीएफ चौकी के पास हुई.

पुलिस के मुताबिक़ हबीबगंज रेलवे स्टेशन के पास चार लोगों ने लड़की को अगवा कर लिया. फिर एक पुलिया के नीचे ले गए और लड़की के साथ गैंगरेप किया.

बाद में लड़की को मरा हुआ समझ कर चारों मौक़े से फ़रार हो गए. हालांकि पुलिस ने चारों को अपनी गिरफ़्त में ले लिया है. भोपाल के हबीबगंज आरपीएफ चौकी से महज 100 मीटर दूर आरोपियों ने एक छात्रा के साथ कथित तौर पर गैंगरेप किया. पीड़ित के परिजनों का आरोप है कि उन्हें एफआईआर दर्ज कराने के लिये कई घंटे तक पुलिसवालों ने चक्कर लगवाया.

पीड़िता ने परिजनों के साथ खुद एक आरोपी को पकड़ा और पुलिस के हवाले किया. इसके बावजूद मामले में एफआईआर दर्ज करने में पुलिस ने 11 घंटे से ज्यादा का वक्त लिया.

 

फास्टट्रेक अदालत ने चारों अारोपियों को दोषी ठहराते हुए अंतिम सांस तक कैद की सजा सुनाई।

न्यायाधीश सविता दुबे ने घटना के 52 दिन बाद सुनाए अपने फैसले में चारों आरोपियों गोलू बिहारी, अमर छोटू, रमेश और राजेश को दोषी करार दिया और उन्हें अंतिम सांस तक उम्रकैद की सजा सुनाई।
सजा सुनाए जाने के समय चारों आरोपी अदालत में मौजूद थे।

गौरतलब है कि gangrape  के इस मामले में कार्रवाई की गाज 10 पुलिस अधिकारियों पर गिरी थी. -एजेंसी