BHIM APP का यूजर फ्रेंडली होना ही इसकी खासियत

BHIM APP to be user friendly as its USP
BHIM APP का यूजर फ्रेंडली होना ही इसकी खासियत

हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने जिस BHIM APP को जारी किया है उसका यूजर फ्रेंडली होना ही इसकी खासियत है तभी तो इसे ग्रामीण इलाकों तक पहुंच बनाने वाला पहला डिजिटल लेनदेन का माध्‍यम बताया जा रहा है।
पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ्ते डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने और उसे आसान बनाने के लिए आधार कार्ड पर आधारित भीम एप लॉन्च किया था। अगर आप नहीं जानते हैं कि इस एप को कैसे उपयोग में लाया जाए तो यहां आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

BHIM को ‘भारत इंटरफेस फॉर मनी’ कहा गया है जो बाबा साहेब अंबेडकर के नाम पर रखा गया है।

यदि आप गूगल प्ले स्टोर पर भीम एप सर्च करेंगे तो 40 से ज्यादा एप आपको मिल जाएंगे जो कंफ्यूज कर देंगे।
स्मार्टफोन और इंटरनेट की बाध्यता अनिवार्य नहीं
नेशनल पेमेंट कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने इसका दूसरा वर्जन बुधवार को जारी कर दिया जो पिछले वर्जन से बेहतर और आसान बताया जा रहा है। इस ऐप की सबसे अच्छी बात यह है कि इसे इस्तेमाल करने के लिए स्मार्टफोन और इंटरनेट की बाध्यता अनिवार्य नहीं है। साधारण फोन से भी इसे ऑपरेट किया जा सकता है।
कैसे  करें शुरुआत
सबसे पहले भीम एप डाउनलोड करें. उसके बाद अपने बैंक अकाउंट को इस एप में रजिस्टर करें। बैंक खाता रजिस्टर करने के साथ अपने लिए एक यूपीआई पेन सेट करें। यूजर का मोबाइल नंबर ही उसके पेमेंट का एड्रेस होगा। एक बार आपका रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद आप अपने ट्रांजेक्शन भीम एप में शुरू कर सकते हैं।

BHIM एप पर सभी ट्रांजेक्शन रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर  भेजा जाता है
भीम एप पर अपने आप अपने दोस्तों, दूर बैठे परिवार के लोगों और उपभोगताओं को भी भेज सकते हैं. भीम एप पर सभी ट्रांजेक्शन रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर यानि की पेमेंट ऐड्रेस पर भेजा जा सकता है. आप बिना यूपीआई सुविधा वाले बैंकों में भी पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। उसके लिए आप एमएमआईडी और आईएफएससी सुविधा की मदद ले सकते हैं। आप किसी अन्य रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या यूजर से पैसा प्राप्त करने के लिए रिकवेस्ट भी भेज सकते हैं।
भीम ऐप के साथ बैंक खाते को लिंक करें
भीम ऐप के साथ बैंक खाते को लिंक करके खरीददारी या किसी तरह का लेन-देन कर सकते हैं और सीधे अपने खाते में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। मोबाइल फोन में इसे डाउनलोड करने के बाद *99# टाइप करने के बाद इसका मेन्यू खुल जाता है, जिससे आपको सभी प्रकार की जानकारियां मिल जाती हैं।
एकबार में 10 हजार और एक दिन में 20 हजार रुपये के भुगतान की सीमा 
सबसे पहले भीम एप के मेन मेन्यू में जाएं. उसके बाद बैंक खातों को सेलेक्ट करें.उसके बाद सेट यूपीआई पिन, ऑप्शन को चुनें.उसके बाद आपको अपने एटीएम/डेबिट कार्ड का नंबर डालना होगा अपने डेबिट कार्ड के एक्सपायरी डेट के साथ. उसके बाद आपके पास एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) प्राप्त होगा.उसको एप में डालने के बाद आप अपना यूपीआई पिन बना सकते हैं.इसके जरिए एकबार में 10 हजार रुपये तक का भुगतान किया जा सकता है और एक दिन में 20 हजार रुपये के भुगतान की सीमा तय की गई है. इससे ज्यादा रकम का भुगतान करने के लिए आपको अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड या ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल करना होगा.
कौन से बैंक भीम एप में सपोर्ट करते हैं?
सरकारी बैंकों के साथ साथ निजी बैंक भी शामिल
भीम एप में सपोर्ट करने वाले बैंकों में सरकारी बैंकों के साथ साथ निजी बैंक भी शामिल हैं. इलाहाबाद बैंक, आंध्रा बैंक, एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, केनरा बैंक, कैथोलिक सीरियन बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, डीसीबी बैंक, देना बैंक, फेडरल बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, आईडीएफसी बैंक, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, इंडसइंड बैंक, कर्नाटक बैंक, करूर वैश्य बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, पंजाब नेशनल बैंक, आरबीएल बैंक, साउथ इंडियन बैंक, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, सिंडिकेट बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, विजया बैंक आदि
पेटीएम और भीम एप का सबसे बड़ा अंतर
पेटीएम और भीम एप का सबसे बड़ा अंतर ये है कि पेटीएम वॉलेट में आप अपने बैंक खाते से उसमें पैसे ट्रांसफर करते हैं जबकि भीम एप सीधा आपके बैंक खाते से लिंक रहता है और इसके जरिए आप सीधा पैसे भेज और ले सकते हैं. भीम आपका ट्रांजैक्शन सीधे सेलर और बैंक खाते के बीच कराता है वहीं पेटीएम आपके बैंक खाते की जानकारी अपने पास पास रखता है और थर्ड पार्टी बनकर आपका ट्रांजैक्शन करता है. भीम बैंक और सेलर के बीच सीधा ट्रांजैक्शन होने के कारण किसी तरह का ट्रांजैक्शन चार्ज नहीं लगता जबकि पेटीएम आपके प्रत्येक ट्रांजैक्शन पर बैंकिग चार्ज लगाता है.

यूजर एक से अधिक बैंक खातों को जोड़ सकता है

भीम ऐप यूजर एक से अधिक बैंक खातों को जोड़ सकता है और अपना कैशलेस ट्रांजैक्शन कर सकता हैं जबकि पेटीएम में एक यूजर सिर्फ एक बैंक खाते को जोड़ पाएगा जिससे उसका आईडी निर्धारित होगा, दूसरा खाता जोड़ने के लिए उसे दूसरे मोबाइल पर एक बार फिर से पेटीएम ऐप डाउनलोड करना पड़ेगा. भीम ऐप केन्द्र सरकार की संस्था नैशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) द्वारा निर्मित और संचालित है और यह संस्था केन्द्रीय रिजर्व बैंक द्वारा रेगुलेटेड है जबकि पेटीएम नोएडा आधारित एक निजी कंपनी है जिसे 2015 में रिजर्व बैंक से देश के पहले पेमेंट बैंक का लाइसेंस मिला था. पेटीएम स्मार्टफोन या कंप्यूटर दोनों के जरिए चलाया जा सकता है लेकिन ट्रांजैक्शन सिर्फ इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध रहने की स्थिति में संभव है. जबकि भीम ऐप से पेमेंट करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन जरुरी नहीं है.
यूजर अपना बैंक खाते का बैलेंस भी चेक कर सकते हैं
भीम एप के इस्तेमाल करने वाले यूजर अपना बैंक खाते का बैलेंस भी चेक कर सकते हैं और अपने ट्रांजेक्शन से जुडी जानकारियां भी ले सकते हैं. यूजर्स अपने फोन नंबर पर अधिकतर तौर पर कस्टम पेमेंट ऐड्रेस भी बना सकते हैं. जल्द से जल्द ट्रांजेक्शन को पूरा करने के लिए आप क्यूआर कोड स्कैन करने से भी कर सकते हैं. खरीददारी करते वक्त ऐप से भुगतान करने के लिए बस दुकानदार के मोबाइल नंबर की जरूरत होती है. सबसे ज़बरदस्त बात है भीम एप अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में आप इस्तेमाल कर सकते हैं. सरकार का कहना है आप जल्द ही भीम एप को अन्य भाषाओं में भी उपयोग कर सकेंगे.- Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *