गुणकारी औ‍षधि है नीम, डंठल से लेकर पत्तियां तक उपयोगी

हम अपने बड़े-बुजुर्गों से सुनते आए हैं कि नीम का प्रयोग बहुत ही गुणकारी औ‍षधि के रूप में किया जाता है। अगर हम छोटे शहरों की बात करें तो आज भी कई घरों में नीम की दातून को टूथपेस्ट की जगह प्रयोग किया जाता है।
नीम के पेड़ की डंठल से लेकर पत्तियां हमारे लिए कई चीजों में काफी फायदेमंद होती हैं।
चेहरे के लिए है गुणकारी
आयुर्वेद में नीम को चेहरे के मुंहासे और स्किन को खूबसूरत व ग्लोइंग बनाए रखने के लिए गुणकारी माना गया है। मॉनसून के दौरान उमस की वजह से हमारे शरीर से पसीना निकलने लगता है और हमारी स्किन ऑइली हो जाती है। नीम का एंटी बैक्टीरियल होना ही स्किन के लिए काफी अच्छा होता है। इससे चेहरे की झुर्रियां भी कम हो जाती हैं। नीम के प्रयोग से एलर्जी, जलन और इंफेक्शन में राहत मिलती है।
डेंड्रफ को रखे दूर
कई लोगों को सिर में डेंड्रफ की प्रॉब्लम होती है। ऐसे में उनके सिर की त्वचा की स्किन झड़ने लगती है। बदलता मौसम आपकी त्वचा का पीएच बैलेंस बिगाड़ देता है। जिसका असर आपके सिर की स्किन पर पड़ने लगता है। नीम का एंटी बैक्टीरियल गुण झड़ती त्वचा और डेंड्रफ से लड़ने में हेल्प करता है। इससे आपके बाल झड़ने भी कम हो जाते हैं।
ब्लड को रखता है साफ
बदलते मौसम का हमारे शरीर पर भी काफी फर्क पड़ता है। ऐसे मौसम में डाइट, लाइफस्टाइल तो बदलते ही हैं साथ ही शरीर में विषैले तत्व भी बढ़ने लगते हैं, जिसका असर हमारे पाचन तंत्र, रोग प्रतिरोधक क्षमता पर भी पड़ने लगता है। नीम प्राकृतिक एंटी ऑक्सीडेंट से तो भरपूर है ही साथ ही इसमें जड़ीबूटी के गुण भी हैं। इससे आपका ब्लड साफ होता है और आपका लीवर और किडनी भी स्वस्थ रहती हैं। नीम शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करती हैं, जिससे हमारा ब्लड सकुर्लेशन भी ठीक बना रहता है। इससे हाई ब्लडशुगर और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।
पाचन तंत्र रहता है ठीक
हमारे स्वस्थ शरीर के लिए स्वस्थ पाचन तंत्र का होना भी बेहद जरूरी है। ऐसे में नीम आपके काफी काम आ सकती है। नीम पाचन तंत्र को मजबूत बनाए रखने में मदद करती है। इसके प्रयोग से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और बीमारियों से बचे रहते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »