पांड्या-राहुल पर बीसीसीआई के Lokpal सख्त़, कोर्ट में पेश होने का आदेश

नई दिल्‍ली। टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल को सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त बीसीसीआई के Lokpal डीके जैन ने सोमवार को अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस भेजा था। Lokpal की सुुनवाई की तारीखों का खुलासा हुआ है। दोनों ही खिलाड़ी इस वक्त आईपीएल में व्यस्त हैं। इस वजह से दोनों की सहूलियतों का ध्यान में रखते हुए तारीखें तय की गई हैं।

हार्दिक पांडया की सुनवाई मुंबई कोर्ट में 9 अप्रैल को होगी, वहीं केएल राहुल को अगले दिन यानी 10 अप्रैल को सुनवाई के लिए हाजिर होना पड़ेगा। गौरतलब है कि टीवी शो ‘कॉफी विद करण’ में महिलाओं पर विवादित टिप्पणी करने वाले इन दोनों क्रिकेटर्स को पहले सीओए ने जांच पूरी होने तक सस्पेंड कर दिया था। हालांकि बाद में यह बैन हटा लिया गया।

नव नियुक्त Lokpal डी के जैन ने खुद पांड्या और राहुल को नोटिस भेजने के बारे में जानकारी दी थी।

Lokpal जैन ने कहा था, ‘ये नोटिस पांड्या और राहुल को अपना पक्ष रखने के लिए फेजा गया है।’ यह बात भी पहले से साफ हो चुकी थी किक दोनों खिलाड़ी 11 अप्रैल को मुंबई में होने वाले मुकाबले से पहले लोकपाल के सामने पेश होना पड़ सकता है।

बीसीसीआई के सीनियर अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि लोकपाल दोनों क्रिकेट खिलाड़ियों से अलग-अलग मिलेंगे और इसके बाद कोई फैसला लेंगे।  अधिकारी ने कहा, ‘जैन मुंबई और पंजाब के बीच होने वाले मैच के लिए मुंबई आएंगे और इस मौके पर दोनों खिलाड़ियों से बात करेंगे। वह दोनों खिलाड़ियों की राय जानेंगे। इसके बाद वह अपनी रिपोर्ट दाखिल करेंगे।’

पांड्या और राहुल ने बॉलीवुड निर्देशक करण जौहर के चैट शो ‘कॉफी विद करण’ में जनवरी में एक एपिसोड के दौरान महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक बातें की थीं। इसी के बाद दोनों पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया गया था और जांच के आदेश दे दिए गए थे। बाद में हालांकि सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने इन दोनों पर जांच पूरी न होने तक प्रतिबंध लगा दिया था।

अधिकारी से जब पूछा गया कि विश्व कप पास है और ऐसे में क्या इस मुद्दे को जल्दी सुलझाने की जरूरत है? इस पर अधिकारी ने कहा, ‘निश्चित ही हम इस मुद्दे को जल्दी निपटाना चाहते हैं। हम इसे विश्व कप से पहले निपटाना चाहते हैं ताकि कोई अड़चन नहीं आए।’ जैन ने कहा, ‘मैंने बीते सप्ताह दोनों खिलाड़ियों को नोटिस दे दिया था। एक स्वाभिवक न्याय के लिए दोनों पक्षों का सुनना बेहद जरूरी है।’

इस मामले की जांच जल्दी पूरी होने के लिए दोनों खिलाड़ियों का पक्ष रखना जरूरी है। Lokpal जैन ने आगे बताया था, ”मेरे लिए दोनों खिलाड़ियों का पक्ष जानना जरूरी है। अब यह उन दोनों पर है कि वह कब सामने आकर अपनी बात बताते हैं।’

जनवरी के शुरुआती हफ्ते में कॉफी विद करण का यह विवादित एपिसोड टेलीकास्ट हुआ था।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »