BCCI ने नहीं बढ़ाया कोच रमेश पोवार का कार्यकाल, आवेदन मांगे

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने महिला क्रिकेट टीम के कोच रमेश पोवार का कार्यकाल नहीं बढ़ाया है। बोर्ड ने नए हेड कोच के लिए इच्छुक अभ्यर्थियों से आवेदन मांगें हैं। पोवार का कार्यकाल शुक्रवार यानी 30 नवंबर तक ही था। माना जा रहा है कि महिला क्रिकेट में चल रही कॉन्ट्रोवर्सी के चलते बोर्ड ने उनके करार को रिन्यू नहीं किया। ऐसी खबरें हैं कि बोर्ड के सदस्य इस बात को लेकर नाराज हैं कि पोवार ने महिला टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ मिताली राज को आखिरी एकादश में शामिल नहीं करने का फैसला किया।
कहां से शुरू हुआ था विवाद
टी-20 वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ मिताली टीम में थीं, लेकिन पांच बल्लेबाजों के आउट होने के बावजूद उन्हें बल्लेबाजी के लिए नहीं भेजा गया जबकि टीम में वे ओपनर के तौर पर शामिल की गई थीं। इस मैच में हरमनप्रीत ने शतक लगाया था। भारत ने मैच जीता था।
पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे मुकाबले में मिताली ने ओपनिंग की और 56 रन बनाए। हरमनप्रीत 14 रन पर आउट हो गई थीं। भारत ने ये मैच जीत लिया।
तीसरे टी-20 में आयरलैंड के खिलाफ भी मिताली ने फिफ्टी लगाई। हरमनप्रीत इस मैच में 7 रन ही बना पाई थीं। ये मैच भी भारत जीता था।
इसके बाद टीम ऑस्ट्रेलिया से भिड़ी। इस मैच में मिताली को बाहर रखा गया। मंधाना और हरमनप्रीत की पारियों की बदौलत मैच भारत ने जीता।
इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल से भी मिताली को बाहर रखा गया। भारतीय टीम 112 रन पर ऑल आउट हो गई। इंग्लैंड ने मुकाबला जीत लिया।
पांच मैच में से तीन में मिताली ने बल्लेबाजी नहीं की। इसके बावजूद वे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-4 भारतीय बल्लेबाजों में रहीं। उन्होंने 2 मैचों में 107 रन बनाए। हरमनप्रीत ने पांचों मैच में बैटिंग की और 183 रन बनाए।
सेमीफाइनल मैच में मिताली को टीम से बाहर रखने पर विवाद शुरू हुआ।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *