Bangladesh poll के दौरान आवामी लीग और बीएनपी समर्थकों में झड़प, 5 की मौत

Bangladesh poll जहां हसीना चौथी बार प्रधानमंत्री बनने के लिए चुनाव लड़ रही हैं, वहीं दूसरी ओर जेल में बंद उनकी चिर प्रतिद्वंदी खालिदा जिया का भविष्य अधर में लटका नजर आता है

ढाका। Bangladesh poll के दौरान आवामी लीग और बीएनपी समर्थकों में झड़प हो गई जिसमें 5 लोगों की मौत हो गई। Bangladesh poll में संसदीय चुनाव के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच रविवार की सुबह मतदान शुरू होने के बाद हुई चुनावी हिंसा में कम से कम पांच लोगों की मौत हुई है।
सत्तारूढ़ अवामी लीग और विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी दोनों ही एक-दूसरे के समर्थकों और उम्मीदवारों पर हमले का आरोप लगा रहे हैं। सुबह आठ बजे मतदान शुरू होने के बाद राजधानी में ढाका सिटी सेन्टर कॉलेज में सबसे पहले प्रधानमंत्री शेख हसीना ने वोट डाला। हसीना के रिश्तेदार एवं पार्टी सांसद फजले नूर तापस इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

हसीना ने कहा, ‘‘उदारवादी बलों को जीत दिलाने के लिए लोग अवामी लीग के पक्ष में मतदान करेंगे।’’

एक ओर जहां हसीना चौथी बार प्रधानमंत्री बनने के लिए चुनाव लड़ रही हैं, वहीं दूसरी ओर जेल में बंद उनकी चिर प्रतिद्वंदी खालिदा जिया का भविष्य अधर में लटका नजर आता है। सूचनाओं के मुतबिक जिया आंशिक रूप से लकवाग्रस्त हैं।

इस बीच, देश में विभिन्न जगहों पर हुई चुनावी हिंसा में अधिकारियों ने पांच लोगों के मरने की पुष्टि की है। अपुष्ट सूचनाओं के अनुसार नौ लोगों की मौत हुई है जिनमें तीन अवामी लीग के कार्यकर्ता हैं।

स्थानीय मीडिया के अनुसार, चुनावी हिंसा में 30 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। देश में रंगमती के कावखाली में सत्तारूढ़ अवामी लीग और विपक्षी बीएनपी समर्थकों के बीच झड़प में जुबो लीग के एक नेता की मौत हो गई और 10 अन्य लोग घायल हो गए। ‘जुबो लीग’ अवामी लीग की युवा शाखा है।

‘बीडीन्यूज24’ की खबर के अनुसार मृतक की पहचान जुबो लीग की घागरा यूनियन के महासचिव मोहम्मद बसीरुद्दीन के तौर पर हुई है। अवामी लीग के उप जिला महासचिव इरशाद मियां ने बताया कि घायलों को कावखाली उप जिला स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

समाचार पोर्टल के अनुसार, चटगांव में बीएनपी का कार्यकर्ता मारा गया जबकि राजशाही में अवामी लीग के समर्थक की मौत हुई है। चुनावी हिंसा में अलग-अलग घटनाओं में दो राजनीतिक कार्यकर्ता मारे गए हैं।

चुनाव के मद्देनजर रविवार को एक महत्वपूर्ण बांग्लादेशी समाचार चैनल ‘जमुना टीवी’ का प्रसारण बंद कर दिया गया। टीवी स्टेशन के प्रधान संपादक फहीम अहमद ने कहा, ‘‘केबल ऑपरेटरों ने बिना कोई स्पष्टीकरण दिए जमुना टीवी का प्रसारण बंद कर दिया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम कार्यक्रमों का प्रसारण कर रहे हैं, लेकिन ब्लैकआउट की वजह से बांग्लादेश में हमें कोई नहीं देख पा रहा है।’’ हजारों सैनिकों और अर्द्धसैनिकों सहित छह लाख सुरक्षाकर्मियों को स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए तैनात किया गया है। देश में 10.41 करोड़ मतदाता पंजीकृत हैं।

सुरक्षा एजेंसियों से धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है क्योंकि मीडिया में ऐसी खबरें आई हैं कि 16 से 26 दिसंबर के बीच शरारती तत्वों ने हिन्दुओं के तीन घरों को जला दिया।

बांग्लादेश के टेलीकॉम नियामक ने रविवार मध्यरात्रि तक मोबाइल 3जी/4जी सेवा बंद करने का आदेश दिया है, ताकि चुनावों के दौरान अशांति फैलाने वाली अफवाहों से बचा जा सके। 1971 में पाकिस्तान से आजादी मिलने के बाद बांग्लादेश में यह 11वां आम चुनाव है। चुनाव आयोग के मुताबिक, 300 संसदीय सीटों में से 299 सीटों पर चुनाव हो रहा है जिसके लिए 1,848 उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव के लिए 40,183 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।

जेल में हैं बेगम खालिदा जिया
हालांकि, इस बार भी मुकाबला बांग्लादेश की दो बेगमों (हसीना और जिया) के बीच होगा। कट्टरपंथी संगठन जमात-ए-इस्लामी पार्टी के चुनाव लड़ने पर रोक है। उसके उम्मीदवार निदर्लीय चुनाव लड़ रहे है। चुनाव के दौरान हिंसा की आशंका के चलते सुरक्षा व्यवस्था कड़ी गई है। हिंदुओं समेत दूसरे अल्पसंख्यक समुदायों को सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है। हाल में तीन हिंदू परिवारों के घरों को कट्टरपंथियों ने आग के हवाले कर दिया था।

मुख्य विपक्षी पार्टी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) की प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया भ्रष्टाचार के मामले में जेल में हैं। उन्हें इसी साल 10 साल हुई है। जिया के चुनाव लड़ने पर रोक है। उनके बेटे तारिक रहमान भी लंदन में निर्वासन झेल रहे हैं। जिया की पार्टी ने पिछले आम चुनाव का बहिष्कार किया था।

बीडीन्यूज24’ की खबर के अनुसार मृतक की जुबो लीग के महासचिव मोहम्मद बसीर उद्दीन के तौर पर हुई है। खबर में एक अधिकारी के हवाले से कहा गया, ‘घागरा यूनियन के रंगीपाड़ा में स्थानीय समयानुसार सुबह साढ़े छह बजे जुबो लीग और बीएनपी कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई।’

अधिकारी ने बताया, ‘बसीर और 10 अन्य लोग झड़प में घायल हो गए थे। बसीर को चटगांव मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।’ उपजिला अवामी लीग के महासचिव इरशाद मिया ने बताया कि घायलों को कावखाली उपजिला स्वास्थ्य परिसर में भर्ती कराया गया है।

299 सीट, 1848 उम्मीदवार

संसद में कुल 300 सीटें हैं। हालांकि, चुनाव 299 सीटों पर हो रहा है। रविवार को होने वाले Bangladesh poll में 10.41 करोड़ मतदाता 1,848 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि मुख्य विपक्षी पार्टी बीएनपी के चरित्र को लेकर सावधानी बरतने की जरूरत है। बीएनपी बीच में भी चुनाव बहिष्कार का ऐलान कर सकती है। अगर ऐसा होता है तो वोटिंग पूरी होने तक चुनाव प्रक्रिया जारी रहनी चाहिए।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »