Gangster पर एक्‍शन में बनारस जोन अव्वल, आगरा जोन में सबसे कम गैंगस्‍टर

बरेली, इलाहाबाद व मेरठ जोन में 50 फीसदी से अधिक Gangster की गिरफ्तारी

लखनऊ। Gangster पर कार्रवाई करने में बनारस जोन सूबे में अव्वल रहा है। यहां पर गैंगेस्टर के 62 फीसदी वांछित अपराधियों को जेल में बंद किया गया है।

इस मामले में बरेली जोन दूसरे नम्बर पर तो इलाहाबाद जोन तीसरे नम्बर पर रहा है। वहीं मुख्यमंत्री का गृह जनपद सबसे अधिक फिसड्डी साबित हुआ है। यह कार्रवाई वर्ष 2017 से अब तक हुई है।

प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों से सख्ती से निपटने और उन्हें जेल भेजने का सख्त निर्देश दिया। इसके बाद तमाम जिलों में पुलिस ने बहुत से अपराधियों को इनकाउंटर या तो मार गिराया या तो जेल भेज दिया। लेकिन मुख्यमंत्री की सख्ती का असर खुद उनके गोरखपुर जोन में ही नहीं दिखा। गैंगेस्टरों पर कार्रवाई करने में गोरखपुर जोन सबसे फिसड्डी रहा। यहां पर गैंगेस्टर के 1257 अपराधी हैं लेकिन 464 अपराधियों को ही पुलिस गिरफ्तार कर पाई है।

वहीं सूबे की राजधानी भी गैंगेस्टरों पर कार्रवाई करने में काफी पीछे रही। यहां पर 1901 गैंगेस्टर अपराधियों में से 935 अपराधी ही पकड़े गए जबकि लखनऊ जोन से आगे बरेली, इलाहाबाद व मेरठ जोन रहा। इन जोनों में 50 फीसदी से अधिक गिरफ्तारी हुई।

एडीजी पीवी रामाशास्त्री की सख्ती का दिखा असर

एडीजी पीवी रामाशास्त्री ने बनारस में आते ही जोन के सभी 10 जिलों के कप्तानों को गैंगेस्टर अपराधियों पर कार्रवाई करने का सख्त निर्देश दिया। इसका असर दिखा और वाराणसी के 10 जिलों में गैंगेस्टर एक्ट में निरुद्ध किए गए 1767 बदमाशों में से 1113 को पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। सबसे अधिक गिरफ्तारी आजमगढ़ जिले में हुई।

मेरठ जोन में सबसे अधिक हैं गैंगेस्टर

पुलिस रिकार्ड के मुताबिक सबसे अधिक गैंगस्टर के अपराधी मेरठ जोन में हैं। यहां पर गैंगेस्टर अपराधियों की संख्या 2930 हैं। वहीं दूसरे नम्बर पर बरेली जोन में 1936 अपराधी हैं। तीसरे नम्बर पर लखनऊ जोन में 1901 अपराधी हैं। सबसे कम Gangster के अपराधी आगरा जोन में 1234 हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »