WWE में बागपत की बहू कविता दलाल उर्फ हार्ड केडी रचेगी प्रोफेशनल कुश्ती में नया इतिहास

Baghpat's daughter-in-law Kavita Dalal aka Hard KD Rachegi in WWE New History in Professional Wrestling
WWE में बागपत की बहू कविता दलाल उर्फ हार्ड केडी रचेगी प्रोफेशनल कुश्ती में नया इतिहास

बागपत। WWE में बागपत की बहू कविता दलाल उर्फ हार्ड केडी विदेशी पहलवानों को हराकर प्रोफेशनल कुश्ती में नया इतिहास रचने की तैयारी कर रही है। आमिर खान की दंगल के रिलीज होने के बाद हरियाणा की धाकड़ छोरियों गीता और बबीता फोगट ने दुनिया भर का ध्यान अचानक ही महिला कुश्ती की ओर खींचा था। अब हरियाणा की ही एक और बेटी व बागपत की बहू कविता दलाल उर्फ हार्ड केडी प्रोफेशनल कुश्ती में नया इतिहास रचने जा रही है। कविता दुबई में प्रोफेशनल कुश्ती में विदेशी पहलवानों को चुनौती देगी। दुबई में डब्लूडब्लूई चैंपियनशिप में उनका सामना 15 से 18 विदेशी महिला पहलवानों से होगा। 25 से 29 अप्रैल तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में कविता पहले दिन ही नॉक आउट राउंड में भिड़ेगीं। लेडी खली के नाम से मशहूर कविता फिलहाल डब्ल्यूडब्ल्यूएफ पहलवान खली की जालंधर स्थित एकेडमी में जमकर पसीना बहा रही हैं।

आठ रेसलर चयनित हुए
डब्ल्यूडब्ल्यूएफ पहलवान खली की जालंधर स्थित एकेडमी में पिछले दिनों इस प्रतियोगिता के लिए ट्रायल हुए थे। डब्लूडब्लूई के सदस्यों ने आठ रेसलर शैंकी सिंह, सुखी सिंह, सैम, साहिल सांगवान, दिनेश, लक्ष्मीकांत, पंकज और कविता दलाल का चयन किया। कविता मई 2016 से खली एकेडमी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं।

सात माह का सफर
कविता को प्रोफेशनल कुश्ती में आए सिर्फ सात माह हुए हैं लेकिन उसने अपनी प्रतिभा से सबको चौंका दिया है। अक्तूबर में हरियाणा के पानीपत में ओपन इंटरनेशनल रेसलिग चैंपियनशिप में सबको धूल चटा कविता ने गोल्ड मेडल जीता था। यहां कविता ने अमेरिका की दो और एक कनाड़ा की पहलवान को हराया था।

लखनऊ से प्रशिक्षण की शुरुआत
हरियाणा के जींद जिले के मलावी गांव की निवासी कविता ने स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद 2004 में लखनऊ में रेसलिंग का प्रशिक्षण लेना शुरू किया। कविता को लेडी खली भी कहा जाता है। 2008 में कविता का कांस्टेबल के पद पर एसएसबी में चयन हो गया। 2009 में कविता की बागपत के बिजवाड़ा गांव निवासी गौरव से शादी हुई। गौरव भी एसएसबी में कांस्टेबल हैं।

कुश्ती के लिए छोड़ी सरकारी नौकरी
ड्यूटी के साथ-साथ कुश्ती को पूरा समय दे पाना संभव नहीं हुआ तो कविता ने 2010 में नौकरी छोड़ दी। कविता का कहना है कि मेरे फैसले में पति गौरव कुमार के साथ-साथ ससुराल वालों ने पूरा साथ दिया। कविता के पति गौरव भी वालीबॉल के खिलाड़ी हैं। दोनों का एक पांच साल का बेटा है।

वेट लिफ्टिंग में भी पदक जीत चुकी
रेसलिंग से पहले कविता वेट लिफ्टिंग में भी कई मेडल जीत चुकी हैं। 2004 से 2014 के बीच उन्होंने कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लिया। फरवरी 2016 में साउथ एशियन गेम्स में कविता ने स्वर्ण पदक जीता था।

सेहत का पूरा ध्यान
सुबह का नाश्ता: : छह केले, छह अंडे, दो लीटर दूध, 30 बादाम की गिरी, नौ ब्रैड पीस जैम के साथ, 100 ग्राम मूंगफली की गिरी।
दोपहर का खाना: 500 ग्राम दही, हरा सलाद, चार चपाती, चावल, दावल, सूखी सब्जी।
शाम 5 बजे अभ्यास से पहले: एक ग्लास दूध या काफी के साथ 100 ग्राम देशी घी में भुने हुए बादाम
शाम 7.30 बजे अभ्यास के तुरंत बाद: 85 ग्राम डब्बाबंद प्रोटीन व विटामिन
रात्रि का खाना: 500 ग्राम से लेकर एक किलोग्राम तक मटन/मीट (दिनवार निर्धारित है), दूध और ग्लूकोज। अगर मटन नहीं है तो 500 ग्राम भुना हुआ पनीर।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *