राजीव एकेडमी से BSC का यह कोर्स बन रहा वरदान…

मथुरा। राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट का बीएससी (कम्प्यूटर साइंस) कोर्स विद्यार्थियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। यह कोर्स विद्यार्थियों के स्वर्णिम भविष्य को साकार कर रहा है। यहां से कम शुल्क में गुणवत्तापूर्ण व्यावसायिक एवं तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर विद्यार्थी लगातार उच्च पैकेज पर बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में नौकरी प्राप्त कर रहे हैं। यहां के छात्र-छात्राओं को लगातार राष्ट्रीय-बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में उच्च पैकेज पर प्लेसमेंट मिल रहे हैं।

हाल ही बीएससी (सीएस) के विद्यार्थियों की प्रतिभा से प्रभावित होकर नामचीन कम्पनियों ने उन्हें उच्च पैकेज पर जॉब की पेशकश की है। बीएससी की छात्रा यशिका सारस्वत को चार कम्पनियों विप्रो, इन्फोसिस, टैक महेन्द्रा और हैक्सावेयर से आफर लेटर मिले हैं। यशिका अपनी इस सफलता पर कहती हैं  कि यह हमारे इंस्टीट्यूट से प्राप्त शिक्षा और मेरे परिश्रम का नतीजा है। राजीव एकेडमी श्रेष्ठ शिक्षा संस्थानों में है, यहां हर वह सुविधा है जोकि किसी युवा के लिए जरूरी होती है।

प्रियंका अग्रवाल का चयन विप्रो तथा इन्फोसिस दोनों कम्पनियों ने किया है। प्रियंका का कहना है कि राजीव एकेडमी में मिलने वाला शिक्षण और यहां की पीडीपी कक्षाओं में स्किल सिखाने की प्रक्रिया का कोई जवाब नहीं है। यहां मिले ज्ञान की बदौलत ही आज हमें मनमुताबिक सफलता मिली है। प्रतीक गौतम को टैक महेन्द्रा और प्लेनेटस्पार्क ने उच्च पैकेज जॉब के लिए चयनित किया है। इसके अलावा आशीष तथा रोहन उपाध्याय को टैक महेन्द्रा द्वारा चयनित किया गया है। इन छात्रों का कहना है कि राजीव एकेडमी ही ऐसा संस्थान है जहां आधुनिक तकनीक से युक्त अनुभवी प्राध्यापकों द्वारा हर विषय की प्रायोगिक जानकारी दी जाती है। वैज्ञानिक तकनीकी से युक्त आधुनिक प्रयोगशाला में यहां युवाओं को ज्ञान प्रदान किया जाता है। हम यंगस्टर्स के लिए बीएससी (कम्प्यूटर साइंस) कोर्स किसी तोहफे से कम नहीं है।

आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल तथा संस्थान के निदेशक डॉ. अमर कुमार सक्सेना ने उच्च पैकेज पर चयनित छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए इनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

  – Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *