आजम पुत्र अब्‍दुल्‍ला बोले, मुस्‍लिम होने के कारण लगाया बैन

रामपुर। समाजवादी पार्टी नेता आजम खान पर विवादित बयान के चलते 72 घंटों का बैन लगने के बाद अब उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान ने चुनाव आयोग पर एकतरफा कार्यवाही के आरोप लगाए हैं।
यही नहीं, अब्दुल्ला खान ने कहा कि आजम पर मुस्लिम होने के चलते बैन लगाया है। उन्होंने यह भी कहा कि आजम खान ने जया प्रदा पर बयान नहीं दिया था। अब्दुल्ला रामपुर की स्वार सीट से एसपी विधायक हैं।
आजम खान के चुनाव प्रचार पर 72 घंटे का बैन लगने के बाद उनके बेटे अब्दुल्ला ने मीडिया के सामने कहा, ‘बैन लगाने से खामोश नहीं कर सकते हैं। चुनाव आयोग ने हम पर एकतरफा कार्यवाही की है।’
उन्होंने आगे बताया कि मुसलमान होने के चलते आजम पर बैन लगाया गया है। अब्दुल्ला ने कहा, ‘उन्होंने जया प्रदा पर बयान नहीं दिया था लेकिन चुनाव आयोग ने सफाई का मौका तक नहीं दिया। मैं जानता हूं कि मोदी को खुश करने के लिए आयोग ने बैन लगाया है।’
तीन दिन तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे आजम
बता दें कि रविवार को रामपुर के शाहबाद में एक रैली के दौरान आजम खान ने जया प्रदा का नाम लिए बिना बेहद शर्मनाक बयान दिया था। आजम ने कहा था, ‘उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे। मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवेअर खाकी रंग का है।’ उनके इस बयान पर महिला आयोग ने तुरंत ऐक्शन लेते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। आजम खान के बयान के बाद चुनाव आयोग ने उनके प्रचार पर 72 घंटों की रोक लगाने का आदेश दिया है। अब आजम तीन दिन तक कोई चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे।
आज है चुनाव प्रचार का आखिरी दिन
18 अप्रैल को दूसरे चरण के चुनाव में रामपुर में भी मतदान होना है। आजम के खिलाफ बीजेपी ने जया प्रदा को उम्मीदवार बनाया है। आज दूसरे चरण के चुनाव प्रचार का आखिरी दिन भी है। ऐसे में आजम न ही चुनाव प्रचार कर पाएंगे और न ही सोशल मीडिया पर कुछ लिख पाएंगे।
डीएम के खिलाफ भी दिया था विवादित बयान
आजम ने जया के अलावा सोमवार को रामपुर जिले के डीएम पर आपत्तिजनक बयान दिया था। उन्होंने कहा था, ‘सब डटे रहो, कलेक्टर पलेक्टर से मत डरियो, ये तनखइया हैं तनखइयों से नहीं डरते हैं। देखें हैं मायावती के कई फोटो कैसे बड़े-बड़े अफसर रुमाल निकालकर जूते साफ करते रहे हैं। हां, उन्हीं से है गठबंधन, हां उन्हीं के जूते साफ कराऊंगा इनसे, अल्लाह ने चाहा तो।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »