आजम खान को हाई कोर्ट से राहत, 29 FIR पर रोक

प्रयागराज। एक के बाद एक ताबड़तोड़ FIR झेल रहे समाजवादी पार्टी के लोकसभा सांसद आजम खान को बड़ी राहत मिली है।
इलाहाबाद हाई कोर्ट ने आजम के खिलाफ दर्ज 29 FIR पर रोक लगाई है। FIR पर रोक के बाद अब इन मामलों में आजम खान की गिरफ्तारी नहीं होगी।
बता दें कि आजम के खिलाफ किसानों की जमीन हड़पने से लेकर किताबें चोरी, भैंस चोरी और बकरी चोरी समेत 80 से ज्यादा मामले दर्ज हैं।
कोर्ट ने साथ ही आजम खान की FIR रद्द करने की मांग ठुकरा दी है। कोर्ट ने राज्य सरकार, रामपुर डीएम और एसएसपी से जवाब मांगा है। कोर्ट ने बीजेपी नेता जयप्रदा को नोटिस जारी कर हलफनामा मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 24 अक्टूबर को होगी।
बता दें कि आजम खान के खिलाफ 27 किसानों और एक रेवेन्यू इंस्पेक्टर ने FIR दर्ज कराई थी।
FIR पर रोक से अब गिरफ्तारी नहीं
आजम खान के खिलाफ किसानों ने जमीन हड़पने का मामला दर्ज कराया था। किसानों का आरोप था कि आजम ने रामपुर स्थित जौहर यूनिवर्सिटी के लिए उनकी जमीन पर अवैध रूप से अतिक्रमण किया था। इस मामले में उनके खिलाफ 2 दर्जन से अधिक किसानों ने FIR दर्ज कराई थी। आजम खान ने कोर्ट से गिरफ्तारी पर रोक लगाने की याचिका दाखिल की थी।
दूसरे मामलों में भी मिल सकती है राहत
इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस मनोज मिश्र और जस्टिस मंजू रानी चौहान की डिवीजन बेंच ने आजम की याचिका पर सुनवाई की और उनके खिलाफ दर्ज 29 मामलों पर रोक लगा दी।
बताया जा रहा है कि इस आधार पर अब आजम को दूसरे मुकदमों में भी राहत मिल सकती है। इससे पहले मंगलवार को रामपुर स्थित आजम खान के आवास के मेन गेट पर उनके खिलाफ जमीन हड़पने समेत तमाम केसों से जुड़े कोर्ट नोटिस चिपकाए गए थे।
आजम के खिलाफ 80 से अधिक मामले
रामपुर के गंज पुलिस स्टेशन के अधिकारियों द्वारा आजम खान के आवास के मेन गेट पर नोटिस चस्पा किए थे। नोटिस में आजम खान के अलावा उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम का नाम भी शामिल था। आजम के खिलाफ अब तक 84 मामले दर्ज हो चुके हैं।
इनमें से अधिकतर मामले जौहर यूनिवर्सिटी की जमीन से संबधित हैं। जमीन हड़पने के अलावा उनके खिलाफ भैंस चोरी, बकरी चोरी, किताब चोरी, जेल की जमीन पर कब्जे, चुनाव के दौरान अभद्र भाषा का प्रयोग करने, अवैध रूप से संपत्ति हथियाने, हरे पेड़ों को कटवाने जैसे करीब 6 दर्जन से ज्यादा केस जुड़ गए हैं। हाल ही में आजम के खिलाफ 2013 के एक मामले में 16,500 रुपये लूटने का मुकदमा दर्ज हुआ था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »