आजम खान को लोकसभा में रहने का अधिकार नहीं: रमा देवी

नई दिल्‍ली। समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की लोकसभा स्पीकर की चेयर संभाल रहीं महिला सांसद पर आपत्तिजनक टिप्पणी पर गुरुवार को काफी हंगामा हुआ था। अब आजम खान की टिप्पणी को लेकर खुद रमा देवी ने उनकी निंदा की है, जिनको लेकर उन्होंने आपत्तिजनक बात कही थी। बीजेपी की सांसद रमा देवी ने आजम पर बरसते हुए कहा, ‘उन्होंने कभी महिलाओं का सम्मान नहीं किया। हम सभी जानते हैं कि जया प्रदा जी के बारे में उन्होंने कैसी बातें कहीं। उन्हें लोकसभा में रहने का कोई अधिकार नहीं है।’
यही नहीं सांसद रमा देवी ने उन्हें सदन से बाहर किए जाने की भी मांग की। उन्होंने कहा, ‘मैं स्पीकर से आग्रह करूंगी की आजम खान को वे सदन से बाहर का रास्ता दिखाएं। आजम खान को माफी मांगनी चाहिए।’ बता दें कि गुरुवार को तीन तलाक बिल पर लोकसभा में चर्चा के दौरान आजम खान जब बोलने के लिए खड़े हुए तो उन्होंने कहा कि मुख्तार अब्बास नकवी कहां हैं। इस पर स्पीकर ने कहा कि वह इधर-उधर की बात न करें बल्कि चेयर को संबोधित करते हुए बोलें।
इस बीच एक बार फिर अखिलेश यादव ने आजम खान का बचाव करते हुए उलटे बीजेपी सदस्यों पर ही हमला बोला है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि यदि कल कोई असंसदीय भाषा इस्तेमाल की गई हो और बीजेपी के सांसद अपने शब्द वापस लेने को तैयार हों तो मैंने यदि कुछ गलत बोला है तो मैं भी अपनी बात वापस ले लूंगा।
रमा बोलीं, चेयर पर थी, इसलिए नहीं लगाई फटकार रमा देवी से एनबीटी ने पूछा कि आपने आजम खान को उस वक्त ही क्यों नहीं डांटा तो उन्होंने कहा, ‘मैं उस वक्त चेयर में थी, वह डांटने के लिए नहीं है, चेयर की एक मर्यादा होती है, मैंने उसका ख्याल रखा। बाद में सभी लोगों ने उन्हें डांट ही दिया था, वह अपनी बात पूरी भी नहीं कर पाए और उन्हें सदन छोड़कर जाना पड़ा।’
माफी की बजाय वॉकआउट ही कर गए थे आजम
इस पर आजम खान ने बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी थी। इस पर सदन में खासा हंगामा हुआ था। आजम की इस टिप्पणी का समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने यह कहते हुए बचाव किया कि उनके कहने की मंशा गलत नहीं थी। इसके बाद आजम सफाई देने के लिए खड़े हुए और कहा कि यदि उन्होंने कुछ भी असंवैधानिक किया है तो वह इस्तीफे के लिए तैयार हैं। इस बीच बीजेपी सांसदों के शोरशराबे से बिफरे आजम ने कहा कि जलालत के साथ बोलने से कोई फायदा नहीं है। यह कहते हुए वह लोकसभा से ही वॉकआउट कर गए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »