प्रदेश में खुलेगी Ayurvedic University, आगामी सत्र में होगा बजट का प्रावधान

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद यशो नाइक ने यूपी के Ayurvedic University के लिए 10 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया

लखनऊ। अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर जितने भी एलोपैथ के मेडिकल कॉलेज हैं, उनके लिए एक अलग से चिकित्सा विश्वविद्यालय स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम पर लखनऊ में स्थापित करने जा रहे हैं। साथ ही एक Ayurvedic University बनाने के लिए भी योजना बनायी है।

अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में Ayurvedic University स्थापित किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने विश्वविद्यालय बनाने की कार्ययोजना पर कार्य कर रही है। आगामी सत्र में बजट का प्रावधान कर दिया जाएगा।

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद यशो नाइक ने यूपी के Ayurvedic University के लिए 10 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया। अखिल भारतीय आयुर्वेद सम्मेलन के अध्यक्ष पदम विभूषण वैद्य देंवेंद्र त्रिगुणा ने सुझाव दिया कि बाराबंकी में खुलने वाले आयुर्वेद विश्वविद्यालय का नाम किसी वैद्य के नाम पर होना चाहिए।

शनिवार को मोतीझील लॉन में आयुष मंत्रालय की ओर से आयोजित अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन में मुख्यमंत्री ने कहा कि आयुर्वेद चिकित्सक मन से हीन भावना निकालें। आयुर्वेद का प्रचार-प्रसार करें। जनता में आयुर्वेद पद्धतियों के प्रति विश्वास बढ़ना चाहिए। सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल विहारी वाजेपई के नाम पर लखनऊ में चिकित्सा विश्विवद्यालय बना रही है। सूबे के सभी मेडिकल कॉलेज इसी विश्वविद्यालय से संबद्ध होंगे। मुख्यमंत्री ने सरकारी मशीनरी को भी अलर्ट किया। कहा कि जो आयुर्वेद कॉलेज अच्छा काम कर रहे हैं उन्हें मान्यता देने के लिए एक-दो वर्ष के नाम पर परेशान न किया जाए। मान्यता के हमारे मानक तय होने चाहिए। मानक का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई भी होनी चाहिए।

सीएम ने कहा कि गोरखपुर स्थित गोरक्षपीठ में 1970 में आयुर्वेद कालेज चल रहा था। हमारे गुरुजी ने इसलिए बंद करा दिया कि वहां विशुद्ध आयुर्वेद पद्धति से उपचार नहीं हो रहा था। गुरुदेव का मानना था कि आयुर्वेद चिकित्सक मिक्स उपचार न करें। नाड़ी ज्ञान, पंचकर्म, क्षारसूत्र पद्धति से उपचार हो लेकिन इसे आगे बढ़ाने में जब विफल रहे तो कॉलेज बंद कर दिया गया। आज वहां 350 बेड का अस्पताल चल रहा है। वहां आयुर्वेद के विस्तार पर काम चल रहा है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »