अयोध्‍या: 5 अगस्त को भूमि पूजन के लिए तैयारियां चरम पर

राम मंदिर के निर्माण के लिए धर्मनगरी अयोध्या में 5 अगस्त को भूमि पूजन है। भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आ रहे हैं। ऐतिहासिक स्वरूप को पुनर्जीवित करने के लिए तैयारियां चरम पर हैं। अयोध्या में सौंदर्यीकरण का कार्य चल रहा है। पूरी अयोध्या को चमकाने का काम जोरों से चल रहा है।
राम मंदिर निर्माण के साथ ही शहर के तमाम स्थानों का विकास कार्य भी चालू हैं। अयोध्या बाईपास के लिए नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने भी खास तैयारी की है। यहां पर पूरी अयोध्या भगवान राम के रंग में रंगी नजर आएगी।
रंगीन नजर आएगी अयोध्या
पूरी अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। सड़कों से लेकर घरों तक भगवान राम नजर आएंगे। सड़कों पर रंग-बिरंगी टेंट और पोल लगाए गए हैं। दूर से ही ये रंग-बिरंगे टेंट नजर आ रहे हैं।
धर्मनगरी के हर घर में नजर आएंगे भगवान
धर्मनगरी में भूमि पूजन के ऐतिहासिक क्षण को यादगार बनाने के लिए हर एक घर के बाहर पेंटिंग का काम चल रहा है। दीवारें रंगने के साथ ही उनके ऊपर देवी-देवताओं की तस्वीरें पेंट की जा रही हैं।
बाईपास के पास खास तैयारी
बाईपास के पास भगवान हनुमान की प्रतिमा लगाने की तैयारी है। यहां पर छोटे फ्लावर के पास गार्डन बनाया जाएगा और फव्वारा भी लगेगा। एनएचएआई की योजना है कि लखनऊ, गोरखपुर और अन्य मार्गों से अयोध्या में प्रवेश करने वाले लोगों को शहर की सुंदरता के प्रति आकर्षित किया जा सके।
घर-घर भगवान राम
एनएचएआई की योजना में 55 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च हो रही है। प्रोजेक्ट के जरिए अयोध्या के विकास को और गति मिल सकेगी। इसके अलावा राम मंदिर के निर्माण कार्य के पूरा होने तक अयोध्या को एक अलग रूप में पर्यटन के बड़े क्लस्टर के रूप विकसित किया जा सकेगा।
​2000 फीट नीचे डाला जाएगा ‘टाइम कैप्सूल’
मंदिर निर्माण से पहले नींव के नीचे 2000 फीट नीचे टाइम कैप्सूल डाला जाएगा। ऐसा इसलिए किया जाएगा ताकि भविष्य में जब कोई भी इतिहास देखना चाहेगा तो रामजन्मभूमि के संघर्ष के इतिहास के साथ तथ्य भी निकल कर आएगा ताकि कोई भी विवाद यहां उत्पन्न न हो सके।
40 किलो ईंट से होगी स्थापना
भव्य भूमि पूजन समारोह से पहले तीन दिवसीय वैदिक अनुष्ठान आयोजित किया जाएगा। यह अनुष्ठान नींव के पत्थर के रूप में 40 किलो चांदी की ईंट की स्थापना को लेकर होगा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *