संरक्षित हाथी टीला की तारबंदी करके कब्जे का प्रयास, डीएम को द‍िया ज्ञापन

मथुरा। मथुरा नगरी में श्री कृष्ण जन्मभूमि के लगभग 500 मीटर की दूरी स्थित पौराण‍िक महत्व के हाथी टीला नामक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित भूखंड पर अवैध कब्जे का प्रयास स्थानीय मुस्लिम समुदाय द्वारा किया जा रहा है।

इस संबंध में एक ज्ञापन आज श्री कृष्ण सेना के अध्यक्ष प्रेम स‍िंह ने जिलाधिकारी को दिया। इसमें प्रतिदिन हाथी टीला पर अतिक्रमण किये जाने और एएसआई की सुप्तावस्था को लेकर मांग की गई क‍ि नगर निगम की उस बहुमूल्य पौराणिक संपदा की रक्षा हेतु त्वरित व प्रभावी कार्यवाही किया जाना परम आवश्यक है।

श्रीकृष्ण-जन्मभूमि परिसर जहाँ मथुरा के राजा कंस का कारागार था से करीब 500 मीटर पूर्व में (अमरनाथ विद्या आश्रम व किशोरी रमण इण्टर कालेज के मध्य) राजा कंस का हाथी घर था, 2.5 एकड़ का यह पौराणिक महत्व का स्थल वर्तमान में हाथी टीला के नाम से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के आगरा सर्किल में A-233 क्रमांक पर अंकित है, भूखण्ड का स्वामित्व मथुरा नगर निगम का है और संरक्षण ASI का । एक लंबे समय से विधर्मियों की कुदृष्टि इस पर है और वे निरंतर इस पुरासम्पदा को नष्ट कर रहे हैं, विगत सरकारों में उपेक्षित रहे इस टीले की सुरक्षा हेतु मोदी सरकार ने 1 करोड़ रुपये बाउंड्रीवाल निर्माण हेतु पारित किए, किंतु विभागीय उपेक्षा व स्थानीय प्रशासन के असहयोग के कारण कार्यदायी एजेन्सी TCIL निर्माण ही आरम्भ न कर सकी और धन वापस हो गया । ASI के नख-दंत विहीन विभाग का कार्यालय निकट में ही कंकाली टीले पर है, किन्तु उनका कार्य शून्य ही है ज‍िसका लाभ अत‍िक्रमणकारी उठा रहे हैं।

विगत 5 दिनों से स्थानीय मुस्लिम अवैध कब्जे हेतु इस भूखंड पर तारबंदी हेतु खम्बे गाड़ रहे हैं, कल कुछ मुस्लिम युवक टीले को खोदकर पुरासम्पदा निकाल रहे थे, जिन्हें सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस ने भगाया व टीले की मिट्टी भरा एक रिक्शा जब्त किया।

ज्ञापन देते समय प्रमुख रूप से विजय बहादुर सिंह, एड. चंद्रमोहन उर्फ राहुल सिंह एड. नीरज तोमर, ठाकुर पीतम सिंह अर्जुन दीछित, पवन प्रताप सिंह आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *