पाकिस्तान में चीनी वाणिज्य दूतावास पर हमला, दो पुलिसकर्मियों की मौत

पाकिस्तान के कराची स्‍थित क्लिफ़टन इलाक़े में चीनी वाणिज्य दूतावास पर हुए हमले में दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई है और कम से कम एक व्यक्ति घायल हो गया है.
एक पाकिस्तानी टेलीविजन चैनल ने कहा है कि एक हमलावर की भी मौत हुई है. पुलिस का कहना है कि चीनी राजनयिक सुरक्षित हैं.
स्थानीय लोगों के अनुसार शुक्रवार की सुबह चीन के वाणिज्य दूतावास पर हमलावरों ने धमाका किया और उसके बाद फ़ायरिंग शुरू कर दी. वहाँ तैनात सुरक्षाकर्मियों ने तुरंत जवाबी कार्यवाही की.
सोशल मीडिया पर भी हमले की तस्वीरें और वीडियो शेयर हुए हैं. तस्वीरों में इमारतों से धुआं उठता हुआ दिखा. कहा जा रहा है कि बंदूकधारी चीन के वाणिज्य दूतावास में घुसने का प्रयास कर रहे थे.
वाणिज्य दूतावास की तरफ़ जाने वाले सभी रास्तों पर नाकेबंदी कर दी गई है.
कराची से बीबीसी संवाददाता रियाज़ सुहैल के अनुसार सिंध के पुलिस महानिरीक्षक ने इस बारे में रिपोर्ट मांगी है.
पाकिस्तान ने हालाँकि अभी तक इस हमले के बारे में कोई बयान जारी नहीं किया है.
अलगाववादी संगठन बलोच लिबरेशन आर्मी ने हमले की ज़िम्मेदारी ली है. संगठन के प्रवक्ता ने बीबीसी को फ़ोन पर बताया कि इस हमले में उनके तीन साथी शामिल हैं और ये हमला चीन को सबक सिखाने के मकसद से किया गया है.
प्रवक्ता ने अज्ञात जगह से फोन कर न्यूज़ एजेंसी एएफपी को फोन कर बताया, ‘हमने इस हमले को अंजाम दिया है। हमारी कार्यवाही जारी रहेगी।’ बीएलए बलूचिस्तान का एक अलगाववादी समूह है।
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि सुबह करीब 9:30 बजे कुछ लोग हाथों में हेंड ग्रेनेड और हथियार लिए हुए थे और दूतावास के पास फायरिंग कर रहे थे।
जियो न्यूज़ का कहना है कि हमलावर दूतावास में घुसने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि 3 हमलावरों को मारने के बाद उनकी सुइसाइड जैकेट भी रिकवर कर ली गई है। एसएसपी पीर मोहम्मद शाह की अगुवाई में पुलिस की टीम दूतावास में दाखिल हुई और क्लीयरेंस की कार्रवाई की। इस हमले में 2 के घायल होने की भी खबर है। स्थानीय लोगों का कहना है कि दूतावास के पास धमाका भी हुआ था।
बता दें कि बीते दिनों इन समूहों ने चीन के सीपीईसी (चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर) का विरोध किया था। पेइचिंग के ओबीओआर के तहत बनने वाला यह प्रोजेक्ट पिछले लंबे समय से चर्चा का केंद्र है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »