ज्‍योतिष: 2018 में शक्‍तिशाली होकर उभरेगा भारत

नया वर्ष 2018 भारत के लिए क्या लेकर आ रहा है। आइए जानते हैं यह साल ज्‍योतिष की नजर से भारत के लिए कैसा होगा… वर्ष का अंक 18 है व इसका जोड़ 9 आ रहा है। 9 का स्वामी मंगल है। मंगल साहस, बल, ऊर्जा व शक्ति का कारक है। मंगल जिस राजनेता की पत्रिका में स्वराशि मेष व वृश्चिक का होकर लग्न दशम-नवम भाव में होगा उनके लिए उत्तम फलदायी होगा।
देश का नेतृत्व देश के प्रधानमंत्री करते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म के समय मंगल लग्न में स्वराशि वृश्चिक का है। भारत की शक्ति में वृद्धि होगी, सैन्य क्षमता में वृद्धि होगी। दुश्मन देश को हर बार मुंह की खानी होगी। भारत देश एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरेगा।
पुलिस, सेना व भारत की आंतरिक सुरक्षा मजबूत होगी। जिन युवक-युवतियों के जन्म समय मंगल की स्थिति अनुकूल है जैसे मंगल लग्न, चतुर्थ भाव में वृश्चिक का व नवम भाव में सिंह, मेष, वृश्चिक का होगा उन्हें इस वर्ष लाभ की उम्मीदें ज्यादा होंगी।
जिसकी पत्रिका के दशम राज्य नौकरी भाव में मंगल मेष, वृश्चिक मकर का होगा उन्हें राजसुख उत्तम रहेगा।
-पं. अशोक पँवार ‘मयंक’