दाऊद इब्राहिम का सहयोगी जबीर मोती लंदन में गिरफ्तार

लंदन। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के एक करीबी सहयोगी जबीर मोती को लंदन में हिरासत में ले लिया गया है। रविवार को मिली रिपोर्ट्स के मुताबिक जबीर को ब्रिटेन की सुरक्षा एजेंसियों ने हिरासत में लिया है। जबीर की गिरफ्तारी भारत के लिए बड़ी कामयाबी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत ने जबीर मोती को गिरफ्तार किए जाने की मांग की थी।
जबीर मोती पाकिस्तानी नागरिक है और वह डी-कंपनी के आर्थिक मामलों का इनचार्ज माना जाता है। खबरों के मुताबिक दाऊद के काले चिट्ठे को जानने वाले जबीर मोती को लंदन के हिल्टन होटल से पकड़ा गया है।
पाकिस्तानी नागरिक और 10 साल के वीजा पर ब्रिटेन में रह रहे जबीर मोती और दाऊदी की पत्नी महजबीन, बेटी महरीन और दामाद जुनैद (पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर जावेद मियांदाद) के बीच वित्तीय लेन-देन की जांच के बाद जबीर को हिरासत में लिया गया है। दाऊद की सबसे छोटी बेटी की अभी शादी नहीं हुई है।
जबीर पाकिस्तान, मिडल ईस्ट, यूके और यूरोप, अफ्रीका और दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में दाऊद के काम को देखता है।
सूत्रों के मुताबिक इन देशों में व्यवसायों से होने वाली कमाई और अन्य गैरनकानूनी गतिविधियों जैसे अवैध हथियार बेचना, नशीले पदार्थों का व्यापार, रियल एस्टेट व्यापार, उगाही से होने वाली कमाई का इस्तेमाल भारत विरोधी अभियानों को अंजाम देने के लिए आतंकवादियों के वित्तपोषण में किया जाता है।
दाऊद के परिवार को यूके शिफ्ट करवाने की कोशिश
खबरों की मानें तो जबीर दाऊद के परिवार को यूके शिफ्ट करवाने के विकल्प खोजने में जबीर की बड़ी भूमिका है। कराची में जिस रेजिडेंशल कंपाउंड में दाऊद का परिवार रहता है, वहां जबीर के पास भी एक घर है। हाल ही में, जबीर खुद भी बारबेडोस और ऐंटीगा में दोहरी नागरिकता पाने की कोशिश कर रहा था। उसनें हंगरी में भी पर्मानेंट रेजिडेंट स्टेटस पाने की कोशिश की थी।
बता दें कि 1993 के मुंबई बम धमाकों में दाऊद भारत में मोस्ट वॉन्टेड है। इन धमाकों में करीब 250 लोगों की जान गई थी। इसके अलावा दाऊद हत्या, उगाही, ड्रग तस्करी, आतंकवाद और अन्य कई मामलों में भी वांछित है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »