एशियाड की मेडलिस्ट ने कहा, मदद की कहकर केजरीवाल ने फोन भी नहीं उठाया

नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भले ही मंगलवार को एशियन गेम्स के मेडल विजेता खिलाड़ियों को सम्मानित किया था, लेकिन अब वह उनके ही निशाने पर हैं।
एशियन गेम्स में कुश्ती का कांस्य पदक जीतने वाली महिला पहलवान दिव्या काकरन ने केजरीवाल सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि उन्होंने तब कोई मदद नहीं की, जब मुझे सबसे ज्यादा जरूरत थी। काकरन ने कहा, कॉमनवेल्थ में जब गोल्ड जीता तब भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने बुलाया। मैंने कहा एशियन गेम्स की तैयारी के लिए कुछ चाहिए। मैंने लिखकर दिया, लेकिन मेरा फोन भी नहीं उठाया गया।
दिव्या ने कहा, मुझे जब कॉमनवेल्थ में गोल्ड मिला, तब मेरे लिए कुछ नहीं किया गया। सीएम से कहा गरीब बच्चों के बारे में कुछ सोचिए। जिस वक़्त ज़्यादा ज़रूरत रहती है, उस वक़्त हमारी सहायता कोई नहीं करता है। यही नहीं, हरियाणा और दिल्ली की खेल सुविधाओं की तुलना करते हुए दिव्या ने कहा, ‘हरियाणा में देखिए खिलाड़ियों को कितनी सपोर्ट है। वहां 3 करोड़ मिलते हैं और यहां 20 लाख। हरियाणा में कहते हैं घी दूध है। घी दूध दिल्ली में भी है लेकिन यहां सपोर्ट नहीं है।’
इससे पहले मंगलवार को सीएम केजरीवाल से मुलाकात के दौरान भी दिव्या ने उनसे कहा था, ‘मुझे कॉमनवेल्थ में ब्रॉन्ज मेडल मिला था। एक दौर था, जब हमें ग्लूकोज तक नहीं मिलता था। मेरा यह कहना है कि गरीब बच्चों की मदद की जाए। आज हम आगे बढ़ गए हैं तो आपने बुलाया है लेकिन उस वक्त मदद की जाए जब जरूरत हो। आपसे कॉमनवेल्थ के दौरान बात हुई थी, आपने मदद की बात कही थी। मैंने एशियन गेम्स के दौरान मदद की बात कही थी, लेकिन आपकी ओर से कोई मदद नहीं की गई। यहां तक कि फोन भी नहीं उठाया गया।’
दिल्ली सरकार की ओर से नहीं मिली प्रतिक्रिया
दिव्या के आरोपों को लेकर दिल्ली सरकार की ओर से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। गौरतलब है कि मंगलवार को ही सीएम केजरीवाल ने खिलाड़ियों से मुलाकात में मदद का भरोसा दिया था। उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार जल्द ही खिलाड़ियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए जल्द ही दो नीतियां तैयार करेंगी। इन दो नीतियों के तहत सरकार पदक जीतने वाले खिलाड़ियों और शुरुआती दिनों में युवा प्रतिभा के रूप में पहचाने जाने वाले खिलाड़ियों को वित्तीय सहायता देगी।
सीएम केजरीवाल ने किया था मदद का वादा
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘आप सभी ने अपने परिवार के साथ-साथ इस देश और दिल्ली को गैरवान्वित किया है। आप में से कई खिलाड़ी कठिन परिस्थितियों से जूझ चुके हैं। आपने वित्तीय समस्याओं और सुविधाओं की कमी का सामना किया है। आपका प्रयास अतुलनीय है।’ केजरीवाल ने कहा, ‘आप सभी उभरते खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं। हम स्कूलों में जाकर बच्चों को आपके नक्शे कदम पर चलने के लिए प्रेरित करेंगे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »