एशिया कप: रोमांचक मुक़ाबले में भारत और अफ़ग़ानिस्तान के बीच मैच टाई

दुबई में एशिया कप के सुपर-4 के रोमांचक मुक़ाबले में मंगलवार को भारत और अफ़ग़ानिस्तान के बीच मैच टाई हो गया. भारतीय टीम 49.5वें ओवर में 252 रन पर ऑल आउट हो गई और उसे जीत के लिए 253 रन बनाने थे.
इस मैच में अफ़ग़ानिस्तान की ओर से कसी गेंदबाज़ी और फ़ील्डिंग देखने को मिली. भारत के ओपनिंग बल्लेबाज़ों की साझेदारी ख़ासी अच्छी रही. के. एल. राहुल (60) और अंबाती रायुडु (57) ने मिलकर 110 रनों की साझेदारी की.
18वें ओवर में टीम को पहला झटका लगा जब अंबाती रायडु को मोहम्मद नबी ने नजीबुल्लाह ज़दरान के हाथों कैच आउट कराया. इसके बाद 21वें ओवर में के. एल. राहुल को स्पिनर राशिद ख़ान ने एलबीडब्ल्यू आउट किया.
दो बड़े खिलाड़ियों के आउट होने के बाद क्रीज़ पर दिनेश कार्तिक जमे. उनका साथ देने के लिए दूसरे पायदान पर कार्यकारी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आए लेकिन 26वें ओवर में धोनी के रूप में तीसरा विकेट गिरा.
धोनी आठ रन बनाकर जावेद अहमदी की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हुए. हालांकि, एक तरफ़ कार्तिक जमे रहे. वहीं दूसरे ओर 31वें ओवर में मनीष पांडे (8) और 39वें ओवर में के. एम. जाधव (19) आउट होकर पवेलियन लौट गए.
पांच विकेट गिरने के बाद भी इंडिया की टीम जीत की दावेदार लग रही थी लेकिन 40वें ओवर में भारतीय टीम को सबसे बड़ा झटका दिनेश कार्तिक के रूप में लगा जिसने मैच का रुख़ लगभग बदल दिया. नबी ने 44 रन के स्कोर पर कार्तिक को एलबीडब्ल्यू आउट कराया.
आख़िरी ओवर में नहीं बन पाए 7 रन
टीम के छह विकेट गिरने के बाद रविंद्र जडेजा और दीपक चाहर की जोड़ी थोड़ी देर क्रीज़ पर टिकी रही लेकिन 45वें ओवर में चाहर 12 रन बनाकर आफ़ताब आलम की गेंद पर बोल्ड हो गए.
उस समय तक टीम के पास तीन विकेट थे और उसे 31 गेंदों में 27 रनों की ज़रूरत थी लेकिन 49वें ओवर की पहली गेंद पर कुलदीप यादव रन आउट हो गए. उसी ओवर की पांचवीं गेंद पर सिद्धार्थ कौल शून्य पर रन आउट हो गए.
50वें ओवर में जीत के लिए छह गेंद पर सात रन की ज़रूरत थी और आख़िरी ओवर स्पिनर राशिद ख़ान को दिया गया. उस समय क्रीज़ पर रविंद्र जडेजा और ख़लील अहमद टिके थे.
ओवर की दूसरी गेंद पर जडेजा ने चौका मारा. अगली गेंद पर जडेजा ने एक रन लिया और स्ट्राइक ख़लील के पास गई. राशिद की चौथी गेंद ख़लील ने एक रन के लिए खेली. अंत में पांचवीं गेंद पर जडेजा कैच आउट हो गए. जिसके बाद दोनों के बीच मैच टाई हो गया.
अफ़ग़ानिस्तान की ओर से आफ़ताब आलम, मोहम्मद नबी और राशिद ख़ान ने दो-दो विकेट लिए जबकि जावेद अहमदी ने एक विकेट लिया.
इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी अफ़ग़ानिस्तान की टीम ने ओपनर मोहम्मद शहज़ाद के शतक के दम पर 50 ओवरों में आठ विकेट पर 252 रन बनाए.
टॉस जीतकर बल्लेबाज़ी चुनने वाली अफ़गानिस्तान टीम को शहज़ाद ने जावेद अहमदी के साथ मिलकर अच्छी शुरुआत दिलाई. इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 65 रन जोड़े. इस साझेदारी में शहज़ाद का योगदान 56 रन का था.
स्पिनर ने कराई वापसी
जावेद सिर्फ़ पांच रन बनाकर रविंद्र जडेजा की गेंद पर आउट हुए. जडेजा ने रहमत शाह (3 रन) को भी टिकने नहीं दिया.
कुलदीप यादव ने हशमत उल्लाह शाहीदी और असग़र अफ़ग़ान को ख़ाता नहीं खोलने दिया लेकिन शहज़ाद जमे रहे. उन्होंने गुलबदीन नाइब के साथ 50 और मोहम्मद नबी के साथ 48 रन जोड़े.
सिर्फ़ 88 गेंदों में शतक पूरा करने वाले शहज़ाद 124 रन बनाकर केदार जाधव की गेंद पर आउट हुए. ये उनका वनडे क्रिकेट में पांचवां शतक है.
इसके बाद मोहम्मद नबी ने मोर्चा संभाल लिया. वो 64 रन बनाकर आउट हुए. भारत के लिए रविंद्र जडेजा ने तीन और कुलदीप यादव ने दो विकेट लिए.
इस मैच में भारत ने कप्तान रोहित शर्मा, शिखर धवन, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और युजवेंद्र चहल को आराम दिया था.
इनकी जगह लोकेश राहुल, मनीष पांडेय, दीपक चाहर, सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद को जगह दी गई. चाहर अपना पहला मैच खेल रहे थे.
कप्तानी की ज़िम्मेदारी महेंद्र सिंह धोनी पर थी जो बतौर कप्तान दो सौवां वनडे मैच खेल रहे थे.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *