नीति आयोग की मीटिंग में अरविंद पनगढ़िया ने तेजी से विकास का रोडमैप पेश किया

Arvind Pangariya presented a road map of rapid development in the Policy Commission meeting
नीति आयोग की मीटिंग में अरविंद पनगढ़िया ने तेजी से विकास का रोडमैप पेश किया

नई दिल्‍ली। नरेंद्र मोदी की अगुवाई में आज नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की तीसरी मीटिंग हुई। इसमें पहले दो मीटिंग में लिए गए फैसलों पर चर्चा हुई। मीटिंग में आयोग के वाइस प्रेसिडेंट अरविंद पनगढ़िया ने देश में तेजी से विकास के लिए एक रोडमैप भी पेश किया। मोदी ने कहा, “जीएसटी से एक देश, एक संकल्प और एक चाहत की भावना का पता चलता है।”
न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक मोदी ने कहा, “न्यू इंडिया का विजन सभी राज्यों और मुख्यमंत्रियों के सहयोग से ही हासिल किया जा सकता है।”
“जीएसटी पर एकराय बनना इतिहास बनाएगा। यह कोऑपरेटिव फेडरलिज्म का एग्जाम्पल बनेगा। GST से एक देश, एक संकल्प और एक चाहत की भावना का पता चलता है।”
मोदी ने राज्यों से कहा कि पूंजीगत खर्च और इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाएं। साथ ही उन्होंने चुनाव की बहसों और चर्चाओं को आगे ले जाएं।
राज्यों के सीएम भी हुए शामिल
नीति आयोग की मीटिंग में राज्यों के सीएम भी शामिल हुए। इनमें नीतीश कुमार, कैप्टन अमरिंदर सिंह, त्रिपुरा के माणिक सरकार, तमिलनाडु के सीएम ई पलानीस्वामी शामिल रहे।
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और वेस्ट बंगाल की सीएम ममता बनर्जी मीटिंग में नहीं पहुंचीं।
पनगढ़िया के रोडमैप में 15 साल के विजन डॉक्युमेंट के प्रमुख बिंदु रहे। इसके अलावा 7 साल का स्ट्रैटजी डॉक्युमेंट और 3 साल का एक्शन प्लान भी पेश किया गया।
मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान किसानों का आय दोगुनी करने का रोडमैप का प्रेजेंटेशन दिया।
मोदी ने किए ट्वीट
मोदी ने ट्वीट किया, “राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ नीति आयोग की मीटिंग में भारत में बदलाव को लेकर विकास का मुद्दा अहम रहेगा। राज्यों ने कई क्षेत्रों में रिफॉर्म्स किए हैं। ये मीटिंग एक-दूसरे को सीखने का मौका है।”
“नीति आयोग के चेयरमैन बताएंगे कि कितनी तेजी से देश को विकास की राह पर ले जाया जा सकता है। मीटिंग में जीएसटी पर भी प्रेजेंटेशन होगा।”
“मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज एग्रीकल्चर के क्षेत्र में एक रेवोल्यूशन लेकर आए हैं। वे भी किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर प्रेजेंटेशन देंगे।”
नीति आयोग की हो चुकी हैं दो मीटिंग
नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की पहली मीटिंग में केंद्र और राज्यों के बीच राष्ट्रीय मुद्दों और योजनाओं पर सहयोग करने को लेकर चर्चा हुई थी।
दूसरी मीटिंग में सतत विकास के लिए मुख्यमंत्रियों के तीन सबग्रुप और गरीबी हटाने-एग्रीकल्चर डेवलपमेंट के लिए 2 टास्क फोर्स बनाई गई थीं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *