अरुण जेटली का जनता से आह्वान, राफेल पर झूठ फैलाने वालों को सजा दें

नई दिल्‍ली। राज्‍यसभा में आज राफेल पर कैग की रिपोर्ट पेश होने के बाद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने इस मुद्दे को लेकर सवाल उठा रहे विपक्ष को फिर टारगेट किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस लगातार झूठ फैला रही थी, जिसे रिपोर्ट ने साफ कर दिया है। रिपोर्ट को सच की जीत बताते हुए जेटली ने कहा कि गुमराह करने वाले लोगों को जनता ही सजा देगी।
गौश्रतलब है कि संसद में हंगामे के बीच बुधवार को राफेल डील पर नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट को पेश कर दिया गया। 36 लड़ाकू विमान के सौदे से संबंधित इस रिपोर्ट में बताया गया है कि सौदा पहले की तुलना में सस्ता है।
‘मामला यहीं खत्म नहीं, सजा दे जनता’
जेटली ने कहा कि रिपोर्ट ने कांग्रेस पार्टी द्वारा फैलाए जा रहे बड़े झूठों का भंडाफोड़ दिया। जिसे कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी बार-बार फैला रहे थे। उन्होंने कहा कि अब डील से सुप्रीम कोर्ट संतुष्ट है, सीएजी भी संतुष्ट है, जिससे सरकार की नीयत पर सवाल नहीं उठना चाहिए। उन्होंने आगे कहा, ‘मामले को यहीं खत्म नहीं होना चाहिए, लोगों को उन्हें जरूर सजा देनी चाहिए जिन्होंने उन्हें गुमराह किया।’
‘दोहराया जा रहा 1989’
जेटली ने दशकों पुराने सेंट कीट्स के मामले का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस दोबारा वैसा ही करना चाहती है। उन्होंने कहा, ‘1989 में राजीव गांधी की सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त थी। इसको छिपाने के लिए उन्होंने वी पी सिंह के खिलाफ सेंट कीट्स का मामला उछाला। अब जब मोदी सरकार की इमेज साफ है तो वह फिर ऐसी ही कोशिश कर रहे हैं।’
रक्षा मंत्रालय के नोट पर भी बोले
रक्षा मंत्रालय के 3 अफसरों के जिस डिसेंट नोट पर विवाद हुआ था उसका जिक्र करते हुए जेटली ने कहा, ‘संवैधानिक प्रोसेस में सभी को अपने विचार बताने का अधिकार है लेकिन आखिरी फैसला सरकार को ही लेना होता है।’
जेटली ने आगे कहा, ‘अधिकारी ने पहले नोट पर साइन करके वह चीजें बताईं जिस पर वह राजी नहीं थे। इसके बाद नई डील की टर्म्स पर उन्होंने ही साइन किए हैं। इसका मतलब साफ है कि नोट लिखने वाले ने डील का समर्थन किया है।’
‘सत्य की ही जीत होती है, साबित हुआ’
राफेल डील पर मीडिया के सामने बोलने से पहले जेटली ने ट्वीट करके कांग्रेस पर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि कैग रिपोर्ट ने सत्यमेव जयते के कथन को सच साबित किया है। उन्होंने आगे लिखा कि ऐसा नहीं हो सकता कि सुप्रीम कोर्ट गलत हो, कैग गलत हो और सिर्फ ‘राजवंश’ ही सही हो। इसके बाद उन्होंने लिखा, ‘लोकतंत्र में लगातार झूठ बोलने वालों कैसे सजा दी जाती है? महागठबंधन के झूठ कैग रिपोर्ट से उजागर आ गए हैं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »