चर्चित आर्टिस्ट करन आचार्य ने अब बनाई भगवान राम की खास तस्वीर

मेंगलुरु। कर्नाटक में आंजनेय हनुमान की तस्वीर बनाकर चर्चित हुए आर्टिस्ट करन आचार्य ने अब भगवान राम की एक खास तस्वीर बनाई है। भगवान राम की इस तस्वीर में करन आचार्य ने उनके चेहरे पर दाढ़ी दिखाकर वनवास के बाद उनके चेहरे के भाव को दर्शाने का प्रयास किया है।
करन के मुताबिक इस तस्वीर को जल्द की टी-शर्ट्स और अन्य तरीकों से प्रिंट कराकर लोगों के बीच लाने की तैयारी की जा रही है।
बता दें कि करण आचार्य वही शख्स हैं जिन्होंने पूर्व में आंजनेय हनुमान की एक तस्वीर बनाई थी। इस तस्वीर को सोशल मीडिया और कर्नाटक की तमाम गाड़ियों की विंड शील्ड पर लगाकर लोगों ने इसकी खूब प्रशंसा की थी। इसके बाद कर्नाटक के चुनाव की एक रैली में खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने भी आंजनेय हनुमान की इस तस्वीर की सराहना की थी। पीएम द्वारा तारीफ किए जाने के बाद करन आचार्य ने उनकी भी एक तस्वीर को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था।
रणभूमि में भगवान राम के भाव दिखाने की कोशिश
इस बार भगवान राम की इस तस्वीर के बारे में करन आचार्य ने कहा कि उन्होंने बीते महीने इस फोटो को बनाया है और अब इसे टी-शर्ट पर प्रिंट कर लोगों के बीच लाने की तैयारी की जा रही है। करन ने कहा कि उन्होंने भगवान राम की इस तस्वीर को लोगों को रामायण मास की शुभकामना देने के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। उन्होंने कहा कि वह नहीं जानते थे कि इस तस्वीर को इतनी अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी। करन ने कहा कि भगवान राम की इस तस्वीर में उनके उस भाव को दिखाया गया है, जब वह रणभूमि में रावण का वध करने जा रहे थे।
सीता की तस्वीर पर काम कर रहे हैं करन आचार्य
करन आचार्य ने कहा कि आंजनेय हनुमान की तस्वीर से उन्हें बेहद लोकप्रियता मिली लेकिन जिस तब उन्हें कॉपीराइट जैसी किसी चीज की जानकारी नहीं थी। आचार्य ने कहा कि इस बार उन्होंने कॉपीराइट सर्टिफिकेट के लिए आवेदन किया है और जल्द ही इसका पंजीकरण भी हो जाएगा। करन आचार्य ने कहा कि कई लोगों ने उन्हें भगवान नरसिंह और भगत सिंह की तस्वीर बनाने का सुझाव दिया है लेकिन वह अब सीता की तस्वीर पर काम करना चाहते हैं। आचार्य ने कहा कि उनके परिवार ने साथ मिलकर परिधि मीडिया नाम की एक कंपनी का निर्माण किया है और हाल ही में कंपनी ने हनुमान और भगवान राम की तस्वीर के साथ कुछ टी-शर्ट और अन्य सामान लॉन्च भी किए हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »