पुलवामा जैसे हमले की कोशिश करने वाला आतंकवादी गिरफ्तार

जम्‍मू। श्रीनगर हाईवे पर पुलवामा जैसे हमले की कोशिश करने के मामले में एक आतंकी को पकड़ा गया है। सुरक्षा एजेंसियां इसकी तलाश में जुटी हुई थीं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आतंकी की पहचान शाकिर अहमद पॉल उर्फ ओवैस निवासी नागबल के रूप में की गई है।
पुलिस की मानें तो वह बीए पास है। इसके अलावा उसने कंप्यूटर एजुकेशन में डिप्लोमा किया है। उसके लगातार पूछताछ की जा रही है। उससे मिली जानकारी के आधार पर अन्य आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।
शनिवार को रामबन जिले की जवाहर टनल के पास गैस सिलेंडर से लदी एक सेंट्रो कार सीआरपीएफ के काफिले से टकरा गई थी। इसके बाद जोरदार विस्फोट में कार पूरी तरह जलकर खाक हो गई। इसमें सीआरपीएफ जवानों को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचा था। घटना के बाद कार चालक मौके से फरार हो गया। उसकी तलाश की जा रही है। घटना के बाद पूरे इलाके को घेरकर देर शाम तक तलाशी अभियान चलाया जाता रहा।
मौके से तेल भरी बोतलें तथा यूरिया खाद के कुछ दाने बरामद हुए हैं। इससे आतंकी घटना की ओर से सुरक्षा एजेंसियों का शक घूम रहा है। कार में रखा दूसरा बड़ा सिलिंडर सुरक्षित है। सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि यदि दूसरा सिलिंडर भी फट गया होता तो स्थिति भयावह हो सकती थी।
सुबह 10.30 बजे हुई इस घटना के दौरान श्रीनगर से जम्मू की तरफ सीआरपीएफ का काफिला आ रहा था। जवाहर टनल के थोड़ा आगे एक मोड़ पर पीछे से सफेद रंग की सेंट्रो कार आई। कार का पिछला कोना सीआरपीएफ की बस से टकराया। इससे कार साइड पर हो गई। इससे पहले कि सीआरपीएफ के जवान कुछ समझ पाते कार में जोरदार धमाका हुआ। इससे कार के परखच्चे उड़ गए।
धमाका किसकी वजह से हुआ है? इसके बारे भी जांच एजेंसियां पता लगाने में लगी हुई हैं। हादसे के बाद पूरे इलाके को सेना, सीआरपीएफ, पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने घेर लिया है।
राष्ट्रीय राजमार्ग पर सोमवार को होती रही सघन जांच
बनिहाल में सीआरपीएफ काफिले पर पुलवामा जैसे फिदायीन हमला दोहराने के प्रयास से पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। इसका असर जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी रविवार के बाद सोमवार को भी दिखाई दिया। राज्य ने राजमार्ग पर कई स्थानों पर बैरिकेटिंग लगाकर वाहनों की जांच की। डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ ही पूरे राज्य में पुलिस टीमों को अलर्ट कर दिया गया है।
सभी जिलों की पुलिस टीमें अपने-अपने क्षेत्रों में गश्त के साथ ही संवेदनशील स्थानों पर जांच शुरू कर दी है। बनिहाल में एनआईए के साथ ही पुलिस टीमें भी अपने स्तर पर जांच में सहयोग देने के लिए जुटी हुई हैं। डीजीपी के मुताबिक राज्य में पुलिस टीमों को लोकल इंटेलीजेंस को मजबूत करने के लिए भी निर्देशित कर दिया गया है। ताकि जल्द से जल्द लोकल स्तर पर संदिग्ध की जानकारी मिल सके। वहीं राज्य में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के भी सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »