रवींद्र जडेजा सह‍ित 19 खिलाड़ियों को Arjuna Award

नई द‍िल्ली। आज शनिवार को अवॉर्ड समिति द्वारा घोषणा की गई क‍ि क्रिकेटर रवींद्र जडेजा को Arjuna Award मिलेगा साथ में  19 खिलाड़ियों को Arjuna Award के लिए भी चुना गया है जिसमें  पूनम यादव, ट्रैक एवं फील्ड के एथलीट तेजिंदर पाल सिंह तूर, मोहम्मद अनस और स्वप्ना बर्मन, फुटबालर गुरप्रीत सिंह संधू, हाकी खिलाड़ी चिंगलेनसना सिंह कांगुजाम और निशानेबाज अंजुम मुदगिल शामिल हैं।

दिशानिर्देशों के अनुसार पुरस्कार की पात्रता के लिए एक खिलाड़ी का पुरस्कार वाले वर्ष में बेहतरीन प्रदर्शन के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछले चार वर्षों में लगातार अच्छा प्रदर्शन होना जरूरी है। इसके साथ ही उसमें नेतृत्वक्षमता, खेल भावना और अनुशासन के गुण भी होने अनिवार्य हैं।

छह बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता एमसी मैरीकॉम ने हितों के टकराव से बचने के लिये बैठक में हिस्सा नहीं लिया। उनके निजी कोच छोटेलाल यादव द्रोणाचार्य पुरस्कार की दौड़ में शामिल थे।

पैराओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट दीपा मलिक और एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहलवान बजरंग पूनिया को देश में खेल के सबसे बड़े पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित किया जाएगा। शनिवार को अवॉर्ड समिति द्वारा इसके घोषणा की गई।
रियो पैरालंपिक के गोला फेंक में एफ53 वर्ग में रजत पदक जीतने वाली 48 वर्षीय दीपा का नाम 12 सदस्यीय समिति ने दो दिवसीय बैठक के दूसरे दिन खेल रत्न पुरस्कार के लिए जोड़ा। न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) मुकुंदकम शर्मा की अगुवाई वाली समिति ने विश्व में 65 किग्रा में नंबर एक पूनिया को शुक्रवार को ही खेल रत्न के लिए चुन लिया था।

दीपा मलिक ने 2016 में रियो डी जनीरो पैराओलिंपिक में शॉट पुट में सिल्वर मेडल जीता था। इसके अलावा उन्होंने एशियन गेम्स में भी सिल्वर मेडल जीता था। बजरंग ने 2013 विश्व चैंपियनशिप की 60 किग्रा स्पर्धा में ब्रॉन्ज मेडल जीता था और इस प्रदर्शन में सुधार करते हुए पिछले साल 65 किग्रा में सिल्वर मेडल अपने नाम किया।

पूनिया ने बीते साल यह अवॉर्ड नहीं मिलने पर अदालत जाने की धमकी दी थी। बजरंग ने पिछले साल जकार्ता एशियाई खेलों में 65 किग्रा स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था। उन्होंने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भी इसी वजन वर्ग में पहला स्थान हासिल किया था। वह विश्व चैंपियनशिप में दो बार के पदकधारी हैं और अगले साल टोक्यो ओलिंपिक में भारत के लिए प्रबल दावेदारों में शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »