खास पौधों को फेंगशुई के आधार पर लगाइए, बदलेगी जिंदगी

Apply special Z plants to Feng Shui, change life
खास पौधों को फेंगशुई के आधार पर लगाइए, बदलेगी जिंदगी

वास्तु-शास्त्र की तरह फेंगशुई में भी पेड़-पौधों के महत्व के बारे में विस्तार से वर्णन है। फेंगशुई की धारणा अनुसार यदि पौधों को उचित प्रकार से व्यवस्थित किया जाए तो उनसे अनेक लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं। जानिए क्‍या फर्क पड़ता है पौधों से जीवन में।

घर के सदस्यों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए घर के हर कमरे में कम से कम एक स्वस्थ एवं हरा पौधा गमले में लगाकर रखें। लेकिन यह पौधा शयनकक्ष में नहीं होना चाहिए।

यदि विवाह योग्य कन्या के विवाह में अड़चन आ रही हो अथवा विवाह में देरी हो रही हो तो ऐसी कन्या के शयन कक्ष के बाहर एक पीओनी के फूलों का चित्र लगाने से विवाह शीघ्र एवं उत्तम होता है।

घर के दक्षिणी-पूर्वी भाग में नीबू अथवा नारंगी का पौधा लगाने से धन प्राप्ति होती है। यदि दक्षिणी-पूर्वी भाग में पौधा लगाना संभव न हो सके तो ये पौधा घर के मुख्य प्रवेश द्वार पर भी लगाया जा सकता है। लम्बे गलियारे में ऐसे पौधे लगाएं जिनके पत्ते बड़े एवं गोलाकार होते हैं।

घर की दक्षिण-पूर्व दिशा वाले भाग में चार स्वस्थ जेड प्लांट्स लगाने से धन वृद्धि होती है।

फेंगशुई में बांस का पेड़ दीर्घायु एवं स्वास्थ्य का प्रतीक है। बांस के चित्र को घर अथवा कार्यालय मे लगाना हितकारी होता है।

व्यवसाय में शक्ति प्रदान करने हेतु बांस के 8 से 10 इंच लम्बे दो टुकड़े दुकान अथवा कार्यालय में मुख्य प्रवेश द्वार के ठीक सामने वाली दीवार पर एक लाल डोरी के माध्यम से क्रॉस के आकार में बांध कर टांग देने चाहिए।

घर की पूर्वी दिशा वाले भाग में बांस के पेड़ अथवा बांस के पौधों का चित्र लगाना परिवार के स्वास्थ्य एवं समृद्धि के लिए उत्तम है।

कार्यालय अथवा घर में बोनसाई एवं कैक्टस के पौधे नहीं लगाने चाहिए। फेंगशुई की धारणा अनुसार बोनसाई के पौधे को प्रगति रोकने वाला एवं कैक्टस के पौधे कष्ट देने वाले होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *